11th January 2019 143

राज्यपाल ने लिया पंतनगर के अमरूद का जायका


पालीहाउस का निरीक्षण कर ली प्रजातियों की जानकारी

पंतनगर। राज्यपाल बेवी रानी मौर्या जनपद के दो दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम पर पहुंची। जिलाधिकारी डा. नीरज खैरवाल व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वरिन्दर जीत सिंह द्वारा पंतनगर एयरपोर्ट पर महामहिम का संयुक्त रूप से पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया। इसके बाद गाड ऑफ आनर द्वारा राज्यपाल को सलामी दी गई। 

इसके उपरांत राज्यपाल तराई भवन में अल्प विश्राम के बाद गोबिन्द बल्लभ पंत कृृषि एवं प्रद्योगिकी विश्व विद्यालय पंतनगर के पत्थर चट््टा में उद्यान अनुसंधान केन्द्र में पहुंचकर फलों की विभिन्न प्रजातियों के पौधो की जानकारी ली। जिस पर डा. एके सिंह संयुक्त निदेशक शिक्षा ने महामहिम को विभिन्न प्रजातियों के आम, अमरूद, शरीफा, आवंला, केला, अनार, लीची व वाताअनुकूलित पाली हाउस के अन्तर्गत फल पौधों के प्रवर्धन आदि फलों के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी देते हुए बताया है कि विभिन्न प्रजातियों की अच्छी नस्ल के उत्पादन के लिए कालसी व देहरादून उद्यान प्रशिक्षण अनुसंधानों में प्रशिक्षण भी दिया जाता है। राज्यपाल द्वारा अमरूदों का जायका लेने के बाद प्रसन्ता व्यक्त की। 

इसके बाद राज्यपाल पालीहाउस के अन्तर्गत लीची के गुणवत्ता पौधों व आडु की विभिन्न प्रजातिया जिसमे लोरोड गोल्ड, लोरोडा रेड, पंतपीच 1, रेड जून, पिन्स आदि प्रजाती पौधों की भी बारीकी से जानकारी ली। राज्यपाल द्वारा इसके अलावा केले के पौधो की विभिन्न प्रजातियां जिसमे स्थानिय केला, मोन्थन, पूवन, लाल केला आदि प्रजातियों की जानकारी ली। इसके बाद राज्यपाल द्वारा सब्जी उत्पादन अनुसंधान पहुंचकर विभिन्न प्रकार की सब्जियों की गहना से निरीक्षण करने के उपरान्त जानकारी ली। राज्यपाल द्वारा भोजन के उपरांत फार्म, मुर्गी फार्म व मत्स्य फार्म का भी भ्रमण कर जानकारी ली। जिस पर उन्होंने कहा कि इन उत्पादनों से उत्तराखण्ड पर्वतीय क्षेत्रों से हो रहे पलायन को रोकने में मदद मिलेगी इसके साथ ही नव युवकों को वेहतरीन रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि किसानों को कृृषि कार्य के साथ साथ इन्ट्रीग्रेटेड फार्मिंग के माध्यम से पंतनगर विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों से जागरूक भी करना चाहिए ताकि किसानों की आय बढ सकें। 

इस अवसर पर पंतनगर कृृषि विश्व विद्यालय के कुलपति डा. तेज प्रताप, प्रदीप कुमार, अपर जिलाधिकारी उत्तम सिंह चौहान, तहसीलदार डा. अमृृता शर्मा, डा. एसएन तिवारी, डा. शांत लालए, पीके सिंह, डा. प्रतिभा, रश्मि उप्रेती साथ ही अनुसंधान के अधिकारी, वैज्ञानिक, छात्र छात्राएं उपस्थित थे।  


Visitors: 335345
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.