21st October 2018 120

पति ने पत्नी का फोड़ा सर पड़ोस में छुपकर बचाई जान


दहेज के लिए काफी समय से कर रहा था उत्पीडऩ

रुद्रपुर। सरकार और दूसरे संगठनों द्वारा तमाम सशक्तिकरण एवं सुरक्षा के उपाय करने के बावजूद घरेलू महिलाओं पर पति और ससुरालियों द्वारा हिंसा किए जाने की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। नगर के निकटवर्ती ग्राम छतरपुर में एक पति ने जानलेवा हमला कर पत्नी का सर फोड़ दिया। पत्नी ने घर छोड़कर सहेली के घर पर जाकर जान बचाई। 

 बिंदुखत्ता, लालकुआं निवासिनी यशोदा ने बताया कि उसका विवाह 12 वर्ष पूर्व बिंदुखत्ता निवासी किशन कांडपाल के साथ हुआ था। विवाह के कुछ दिनों बाद ही पति और ससुराल वाले दहेज के लिए उसे प्रताडि़त करने लगे। बीती 17 अक्टूबर की शाम को किशन ने उस पर जानलेवा हमला कर उसे बुरी तरह घायल कर दिया। यशोदा ने आरोप लगाया कि पति ने उसके सर पर डंडे से वार किया, जिससे सर फट गया। इसके अलावा उसके गुप्त अंग को भी डंडे से घायल कर दिया। किसी तरह घर से भागकर पड़ोस के घर में छुपकर जान बचाई। यशोदा ने नगर के महिलाओं की रक्षा के लिए स्थापित वन स्टॉप सेंटर को पत्र लिखकर अपनी जान माल की सुरक्षा तथा कानूनी कार्रवाई कर न्याय देने की गुहार लगाई। 

मदद को आगे आई मुक्ति संस्था 

रुद्रपुर। घटना की जानकारी मिलने पर नगर की सामाजिक संस्था 'मुक्ति एक नई पहलÓ संस्था यशोदा की मदद को आगे आई। उसकी कार्यकत्रियों प्रेरणा गर्ग, विद्या, अनीता, शालिनी, किरन और कार्यकर्ता राहुल आदि ने जान बचाने को पड़ोसी के घर में छुपी यशोदा को नगर के महिलाओं की रक्षा के लिए स्थापित वन स्टॉप सेंटर में पहुंचाया और उसकी रिपोर्ट दर्ज कराते हुए उसे न्याय दिए जाने की मांग की।


Visitors: 304370
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.