5th December 2018 15

वाराणसी के संकट मोचन मंदिर को उड़ाने की धमकी


प्रशासन को भेजा खत, सांप्रदायिक माहौल खराब कोशिश

2006 से भी बड़ा धमाका करने की चेतावनी

वाराणसी। बाबरी मस्जिद गिराने की बरसी के दिन 6 दिसंबर को एक बार फिर सांप्रदायिक माहौल खराब करने की कोशिशें शुरू हो गई हैं। वाराणसी प्रशासन को आज एक धमकी भरा पत्र मिला है, जिसमें वाराणसी के संकट मोचन मंदिर में बम धमाका करने की बात कही गई है। धमकी भरे पत्र में दो लोगों नाम लिखे हैं। हालांकि प्रशासन इस बारे में किसी भी तरीके की ढिलाई नहीं बरत रहा है। 

बता दें कि वाराणसी के विश्व प्रसिद्ध संकट मोचन मंदिर को धमाके से उड़ाने की धमकी भरी चि_ी मिलने के बाद हड़कंप मच गया है। चिट्ठी में 2006 में हुए धमाके से बड़ा धमाका करने की धमकी दी गई है। संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो. विश्वंभरनाथ मिश्र के मुताबिक सोमवार की रात एक धमकी भरी चि_ी मिली। जिसमें लिखा था कि मंदिर में मार्च, 2006 से बड़ा धमाका करेंगे। साथ ही धमकी को हल्के में न लेने की चेतावनी भी दी गई है।

मंगलवार देर रात प्रो. विश्वंभरनाथ मिश्र ने लंका थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। इस चि_ी में दर्ज दोनों नामों जमादार मियां और अशोक यादव पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

वाराणसी के एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि धमकी भरे पत्र को देखते हुए शहर के लंका थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि जानबूझ कर किसी ने माहौल को खराब करने के लिए यह साजिश रची है। 

ज्ञात हो कि 7 मार्च, 2006 को संकट मोचन मंदिर, कैंट स्टेशन और दशाश्वमेध घाट पर सिलसिलेवार बम धमाके हुए थे। इन धमाकों संकट मोचन मंदिर में 7 और कैंट स्टेशन पर 11 लोगों की मौत हुई थी जबकि 100 से अधिक लोग घायल हुए थे।




Visitors: 312664
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.