12th January 2019 42

चोरों ने तोड़े ताले, लाखों के वारे न्यारे


खेड़े में रात वारदात, चोरों ने उड़ाया आठ लाख का माल

पुलिस मौके पर, घटना के वक्त गृह स्वामी परिवार के साथ गया था गांव

डेढ़ लाख कैश, 10 तोला सोना, डेढ़ किलो चांदी समेत तमाम सामान चोरी

रुद्रपुर। बीती रात रम्पुरा चौकी क्षेत्र में चोरों ने एक बड़ी वारदात को अंजाम दे डाला। रात के अंधेरे में पहुंचे नकाबपोश बदमाशों ने एक ताला लगे घर को अपना निशाना बनाया और पल भर में ताले तोड़ कर चोर घर के अंदर दाखिल हो गए। बेहद इत्मिनान से अंजाम दी गई इस वारदात में चोरों ने सोना, चांदी, कैश और अन्य सामान समेत करीब आठ लाख के माल पर हाथ साफ कर दिया है। वारदात से पहले गृह स्वामी पूरे परिवार के साथ अपने गांव घूमने गया था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने चोरों की तलाश में धर पकड़ शुरू कर दी है। खैर, पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो चुकी है। जिसके जरिये चोरों की शिनाख्त का प्रयास किया जा रहा है। 

खेड़ा में ईदगाद के पास रहने वाले हाजी नजीमुद्दीन पुत्र इमामुद्दीन मवेशियों को खरीदने और बेचने का काम करते हैं। यहां वह अपनी पत्नी, दो बेटियों, एक बेटा व एक भतीजे के साथ रहते हैं। मूलरूप से दबका नौगवां के रहने वाले नजीमुद्दीन पूरे परिवार को लेकर गांव गए थे और घर में ताला लगा था। बताया जाता है कि बीती रात चार नकाबपोश इलाके में दबे पांव दाखिल हुए और घर के मुख्य गेट पर लगा ताड़ा तोड़ दिया। ग्राउंड फ्लोर को बारीकि से खंगालने के बाद जब चोरों के हाथ कुछ नहीं लगा तो वह पहली मंजिल पर पहुंचे। यहां भी कमरे में ताला लगा हुआ था। चोरों ने कमरे का ताला भी पल भर में तोड़ डाला। चोरों ने कमरे में अलमीरा के ताले में तोड़ दिए और अलमीरा में रखा 10 तोला सोना, डेढ़ किलो चांदी और डेढ़ लाख रुपये कैश पर हाथ साफ कर दिया। इसके अलावा चोर घर से भतीजे का लैपटॉप भी उठा ले गए। भतीजा कई सालों से चाचा के साथ रह रहा था। पूरी वारदात को तसल्ली से अंजाम देने के बाद चोरों ने माल समेटा और आसानी से फरार हो गए। 

सुबह जब पड़ोसियों की आंख खुली तो उनके होश फाख्ता हो गए। नजीमुद्दीन के घर का मुख्य गेट में लगा ताला टूटा पड़ा था और अंदर का सारा सामान बिखरा हुआ था। आनन फानन में पड़ोसियों ने इसकी सूचना नजीमुद्दीन को दी। जानकारी मिलते ही नजीमुद्दीन कुछ घंटों में मौके पर जा पहुंचे और सूचना पुलिस को दी। जानकारी पर एसएसआई जगदीश ढकरियाल के साथ पुलिस बल मौके पर जा पहुंचा और मामले की पड़ताल शुरू की। पुलिस ने घर में लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले, जिसमें पूरी वारदात साफ नजर आ रही है। पुलिस ने घटना के जल्द खुलासे का दावा किया है। 

सीसीटीवी में नजर आए दो नकाबपोश चोर

नकाबपोश चोर नजमुद्दीन के घर में लगे सीसीटीवी में कैद हो गए हैं। सीसीटीवी के मुताबिक चोर रात 3 बजकर 39 मिनट पर नजीमुद्दीन की गली में दाखिल हुए थे। इसके बात चोर सीधा नजीमुद्दीन के घर पहुंचे। जिन्हें देख कर लग रहा था कि चोरों ने वारदात को अंजाम देने के लिए पहले से ही रेकी कर रखी थी। करीब आधे घंटे में चोरों ने पूरी वारदात को अंजाम दिया और निकल भागे। चोरों ने भागने के लिए उस रास्ते का इस्तेमाल नहीं किया, जिससे वह आए थे। बल्कि सामान समेट के बाद चोर ईदगाह के बगल से गुजरी संकरी गली से फरार हो गए। इस गली में दूर दूर तक सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं। 

बच्चों के गुल्लक भी खाली कर गए शातिर

नजीमुद्दीन की दो बेटियां और एक बेटा है। नजीमुद्दीन की मानें तो तीनों बच्चों को पैसे जमा करने का शौक है और इसके लिए तीनों बच्चों ने अपनी अपनी गुल्लक बना रखी है। गुल्लक में पैसे डालने के लिए बच्चे अकसर नजीमुद्दीन से पैसे लेते थे। इसके अलावा घरवालों से मिलने वाली पॉकेट मनी से बचे पैसे भी वह गुल्लक में ही डालते थे। बच्चों की मानें तो कई सालों से वह गुल्लक में पैसे जमा कर रहे हैं और कभी गुल्लक से पैसे नहीं निकाले। यह तो नहीं कहा जा सकता कि तीनों बच्चों की गुल्लक में पैसे कितने थे, लेकिन चोर गुल्लक नहीं ले गए, बल्कि गुल्लक को मौके पर तोड़ कर पैसे निकाल लिए।

चाचा ही हिफाजत में रखा था भतीजे का रुपया

नजीमुद्दीन ने बताया कि उनका भतीजा पिछले कई सालों से उनके साथ ही रहता है। वह जो कमाता था अपने पास रखता था और परिवार को भेज देता था। इस बीच भतीजे ने करीब 32 हजार रुपये जमा किए थे। भतीजे ने सोचा कि अगर पैसे उसके पास रहेंगे तो खर्च हो जाएंगे। अच्छा है कि पैसे चाचा को दे दिए जाएं और जब जरूरत होगी तो वापस ले लेंगे। गांव जाने से पहले भतीजे ने 32 हजार रुपये चाचा की हिफाजत में जमा कर दिए, लेकिन उसे पता नहीं था कि पैसे देते ही चोरों की नजर लग जाएगी। नजीमुद्दीन ने बताया कि अन्य रुपयों के साथ उन्होंने भतीजे का रुपया भी रखा था, जो चोरी हो गया। 


Visitors: 335354
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.