11th October 2018 2

लोअर माल रोड के ट्रीटमेंट को लेकर किया विचार विमर्श


नैनीताल।  लोअर माल रोड के ट्रीटमेंट एवं रोड के स्थिरीकरण के लिए आईआईटी रूड़की द्वारा तैयार रिपोर्ट पर भू वैज्ञानिकों, बुद्धिजीवियों एवं सामाजिक संगठनों की राय लेने एवं रिपोर्ट पर गहनता से विचार विमर्श करने के लिए एलडीए/डीडीए सभागार में आयुक्त कुमाऊं मण्डल राजीव रौतेला की अध्यक्षता में आईआईटी के प्रोफेसरों द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से प्रजेन्टेशन दिया गया।   

इस अवसर पर श्री रौतेला ने कहा कि नैनी झील में पानी का स्तर बनाए रखने के साथ ही आस पास के भौगोलिक क्षेत्र को स्थिर रखने के लिए गहन अध्ययन करने व वैज्ञानिक पद्धति से कार्य करने की आवश्कयता है। उन्होंने कहा कि सीमित दायरे से बाहर निकल कर सम्पूर्ण क्षेत्र में गहनता से अध्ययन करने व कार्य करने की आवश्यकता है। 

आईआईटी के प्रोफेसरों द्वारा प्रजेन्टेशन के माध्यम से प्रस्तुत की गई रिपोर्ट पर भू वैज्ञानिकों एवं बुद्धिजीवियों द्वारा कुछ आपत्ति करते हुए महत्वपूर्ण सुझाव प्रस्तुत किए गए। आयुक्त श्री रौतेला ने रिपोर्ट प्रस्तुतीकरण देखने तथा भू वैज्ञानिकों की राय जानने के पश्चात संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि समय समय भू वैज्ञानिकों द्वारा नैनीताल शहर पर की गई शौध को भी शामिल करते हुए आईआईटी की रिपोर्ट का गहनता से परीक्षण किया जाए। उन्होंने आईआईटी रूड़की द्वारा उपलब्ध कराई गई रिपोर्ट पर सभी तकनीकि पहलुओं पर परीक्षण के लिए रिपोर्ट जीएसआई देहरादून को प्रेषित करने के निर्देश दिए। उन्होंने लोअर माल रोड के साथ ही ठण्डी सड़क व आस पास के क्षेत्रों का भी अध्ययन करने के निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन, जीएसआई देहरादून के ज्योलोस्टि डा. मृदुल श्रीवास्तव, एस दास, ज्योलोस्टि डा. एके शर्मा, प्रोफेसर डा. आर नबियाल, डा. आर अनबैलंगन, डा. महेन्द्र सिंह, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि सीएस नेगी सहित राजीव रोचन शाह, केपी जोशी आदि उपस्थित थे। 


ताज़ा खबर

Visitors: 293820
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.