18th July 2018 18

नौसैन्य ठिकानों पर आतंकी हमलों का खतरा


आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद रच रहा सजिश

पाक के बहावलपुर में दी जा रही मरीन ट्रेनिंग

जोधपुर। कश्मीर में सेना के ऑपरेशन ऑल आउट से बौखलाया पाकिस्तान का आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद अब भारतीय नौसेना पर हमले की साजिश रच रहा है। पश्चिमी राजस्थान से सटी सीमा के पार पाकिस्तान के पंजाब स्थित बहावलपुर और रहमियार खां में जैश ए मोहम्मद के कैंप में आतंकियों को मरीन ट्रेनिंग दी जा रही है। जैश सरगना मसूद अजहर ने इसके लिए 20 से 25 आतंकियों को चुना है। उन्हें समुद्र में नेवी के ठिकानों पर हमले की ट्रेनिंग दी जा रही है। 

बता दें कि हाल ही में देश की एक शीर्ष खुफिया एजेंसी की ओर से यह सूचना मिलने के बाद नौसेना हाईअलर्ट पर है। खासतौर से पश्चिमी नौसेना कमान के क्षेत्र में आने वाले ठिकानों पर चौकसी बढ़ा दी गई है। मसूद अजहर मुंबई में 26 नवंबर 2008 को किए गए आतंकी हमले का सरगना है। उसे कंधार विमान अपहरण के वक्त भारतीय जेल से छोड़ा गया था।

डिप डाइविंग की दी जा रही ट्रेनिंग 

आतंकियों को 26/11 की तरह बड़े हमले को अंजाम देने के लिए डिप डाइविंग, यानी गहराई तक गोता लगाकर पानी के अंदर ही हमला करने और नौसैनिक की तरह लंबी दूरी तक तैरना सिखाया जा रहा है। उनका इरादा मुंबई हमले की तरह तटीय क्षेत्र में या पानी के अंदर बने नेवी के ठिकाने, खासतौर से जहाज पर हमला करना है।

नेवी चौबीसों घंटे हर हमले से लडऩे के लिए तैयार

नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा का कहना है कि अलर्ट आने के दौरान या नहीं आने पर भी नेवी हमेशा ही किसी भी खतरे से निपटने के लिए तैयार रहती है।

सूरतगढ़ हमले की नाकाम कोशिश यहीं से 

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में जैश के आतंकी कैंप कई सालों से चल रहे हैं। पिछले चार साल से मसूद अजहर ने इन्हें ज्यादा सक्रिय किया है। इन्हीं कैंप में पठानकोट हमले के आतंकियों को तैयार किया गया था। तीन साल पहले राजस्थान के सूरतगढ़ एयरबेस पर हमले के लिए भी जैश ने 10 आतंकी तैयार किए थे। इन्हें बहावलपुर और मिनचिनाबाद के आतंकी शिविरों में ट्रेनिंग दी गई थी। ये आतंकी 30 और 31 अगस्त 2015 की रात में हारूनाबाद पहुंचे थे, जो सूरतगढ़ के करीब है। यहां से इन्होंने इंटरनेशनल बॉर्डर के पिलर संख्या 340 के आसपास से घुसपैठ करने की बड़ी कोशिश की थी। इस दौरान बीएसएफ की सतर्कता के चलते घुसपैठ नाकाम हो गई थी।


Visitors: 293763
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.