17th November 2017 138

पद्मावती फिल्म के विरोध में चित्तौडग़ढ़ किले पर प्रदर्शन


किले को किया गया बंद, पर्यटकों को होना पड़ा निराश

चित्तौडग़ढ़/जयपुर। संजय लीला भंसाली की आने वाली फिल्म पद्मावती के विरोध में शुक्रवार को चित्तौडग़ढ़ किला बंद कर दिया गया। पद्मावती के विरोध में सभी राजनीतिक दल व संगठन एक हो गए हैं। आज सुबह से ही सभी समाज के लोग यहां प्रदर्शन करने पहुंचे। सर्व समाज ने कहा कि शाम तक सरकार से कोई सकारात्मक जवाब या कार्रवाई नहीं होने पर आगे की कार्रवाई के बारे में बताया जाएगा। किलाबंदी से पर्यटकों को निराशा हाथ लगी।

बता दें कि निर्माता/निर्देशक संजय लीला भंसाली की 1 दिसंबर को रिलीज होने वाली फिल्म पद्मावती के विरोध में सभी राजनीतिक दलों और संगठनों का भारी विरोध शुरू हो चुका है। भारत के सबसे बड़े किलों में शामिल चित्तौड़ दुर्ग के पाडनपोल में बीते कई दिनों फिल्म पद्मावती के विरोध में सर्व समाज की ओर धरना दिया रहा है। इस विरोध को लेकर शुक्रवार को चित्तौडग़ढ़ किले के पाडनपोल द्वार को बंद कर दिया गया। किले पर प्रदर्शन के लिए एक दिन पूर्व ही लोग पहुंचने लगे और रणनीति बनाने लगे। किला बंद होने के बाद पर्यटक निराश हो गए। उल्लेखनीय है कि सर्वसमाज ने फिल्म पद्मावती के विरोध में 17 नवंबर को चित्तौड़ किला बंद रखने का ऐलान किया था। पाडनपोल धरना स्थल पर चेतावनी दी थी कि 16 नवंबर तक फिल्म पर बैन नहीं लगा तो 17 को किलाबंदी कर पर्यटकों का प्रवेश रोक दिया जाएगा। इसके बाद शुक्रवार को किला बंद करवा दिया गया।

चित्तौडग़ढ़ किले पर फायरिंग

जयपुर। पद्मावती फिल्म को लेकर चित्तौडग़ढ़ किले पर चल रहे प्रदर्शन के दौरान उस समय सनसनी मच गई, जब एक युवक बंदूक लेकर पहुंचा और उसने फायर कर दिया। फायरिंग करते ही सुरक्षा व्यवस्था में किले पर मौजूद पुलिस अधिकारी हरकत में आ गए और पुलिस जाब्ते को अलर्ट कर दिया गया। हालांकि फायरिंग से किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ और तनाव भी फैलने से बच गया। वहीं, अभी तक यह भी साफ  नहीं हो सका है कि गोली चलाने वाला युवक कौन था और वह कौन से संगठन से जुड़ा हुआ है। बताया जा रहा है कि युवक को पुलिस ने चिन्हित कर लिया है, लेकिन किले पर चल रहे धरना प्रदर्शन पर टकराव की स्थिति से बचने के लिए उसे पकड़ा नहीं जा सका।


ताज़ा खबर

Visitors: 293828
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.