19th November 2017 265

भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में बताई जानी चाहिए पद्मावती की कहानी: दीपिका पादुकोण


जब से संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' विवादों में आई है तब से दीपिका पादुकोण चर्चा में हैं। हाल में करणी सेना द्वारा दीपिका की नाक काटने की धमकी देने के बाद दीपिका और ज्यादा चर्चा में हैं। किसी पीरियड ड्रामा फिल्म में दीपिका का यह तीसरा किरदार है।  

संजय लीला भंसाली की फिल्मों में लीला, मस्तानी और अब पद्मावती का किरदार निभाने के बाद दीपिका ने कहा, 'ये तीनों किरदार अपनी बहादुरी और आत्मविश्वास के रूप में एक दूसरे के बेहद नजदीक हैं। इसके साथ ही ये एक दूसरे से एकदम अलग भी हैं। लीला के किरदार में बच्चों वाली चंचलता है तो मस्तानी के अंदर एक योद्धा के गुण है और यह युद्धभूमि में उतर जाती है। पद्मावती भी एक योद्धा है जो बिना हथियार के अपने तरीके से युद्ध में शामिल है। उसकी शक्ति उसकी अक्लमंदी और बहादुरी है जो वह अपने विश्वास और लोगों को बचाने के तरीके से सामने आती है।' 

'पद्मावती' के बारे में दीपिका ने कहा, 'मेरे फिल्मी करियर का अब तक का यह सबसे यादगार किरदार है।' खुद को शारीरिक नुकसान पहुंचाए जाने के मुद्दे पर उन्होंने कहा, 'अब इस मुद्दे पर एक औरत, एक आर्टिस्ट और भारत का नागरिक होने के नाते मेरे भीतर बेहद नाराजगी है। मुझे कभी ऐसी धमकियों से डर नहीं लगा। डर एक ऐसी भावना है जिसे मैंने कभी फेस नहीं किया।' दीपिका ने कहा कि हमारे इतिहास में 'पद्मावती' एक ऐसा किरदार है जिसके बारे में केवल भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया को उनकी बहादुरी के बारे में बताए जाने की जरूरत है और यह फिल्म उनकी बहादुरी की ही कहानी बताती है।

(सौजन्य नवभारत टाइम्स)


Visitors: 312636
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.