14th September 2018 49

हरियाणा : 12वीं की टॉपर छात्रा के साथ गैंगरेप


कोचिंग जाते समय लिफ्ट देकर तीन लड़कों ने दिया घटना को अंजाम

2016 में राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित हो चुकी है छात्रा 

वारदात के बाद सभी आरोपी फरार, पुलिस तलाश में जुटी

रेवाड़ी। हरियाणा के रेवाड़ी जिले में 12वीं क्लास की टॉपर एवं राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित एक 19 साल की छात्रा के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। तीन युवकों ने घटना को उस वक्त अंजाम दिया गया जब छात्रा कोचिंग घर से कोचिंग जा रही थी।  दुष्कर्म करने के बाद तीनों आरोपी छात्रा को कनीना बस अड्डे पर फेंककर फरार हो गए। पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

बता दें कि रेवाड़ी जिले की रहने वाली छात्रा बुधवार की सुबह कोचिंग के लिए अपने घर से कनीना आई थी। इसी दौरान कनीना बस अड्डे के पास उसी गांव के रहने वाले दो युवक पंकज और मनीष ने उसे लिफ्ट देने के बहाने बाइक पर बैठा कर किडनैप कर लिया। किडनैप करने के बाद कुछ दूर जाकर दोनों युवकों ने छात्रा को पीने के लिए पानी दिया। पानी पीते ही छात्रा बेहोश हो गई। होश आने पर छात्रा ने अपने आप को एक कुंए के पास पाया। इसी दौरान कुएं के पास निशु नाम का एक और लड़का था जहां पर तीनों ने छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। दुष्कर्म के बाद तीनों आरोपी छात्रा को वापस शाम करीब 4 बजे कनीना बस अड्डे पर बेसुध हालत में फेंककर वहां से रफू चक्कर हो गए। इसके बाद तीनों युवकों में से एक युवक ने छात्रा के पिता को फोन कर उसके कनीना बस अड्डे में नशे की हालत में होने की जानकारी दी। घटना की सूचना मिलते ही परिजन मौके पर पहुंचे और पीडि़ता को अस्पताल में भर्ती कराया। होश आने पर छात्रा ने परिजनों को आपबीती सुनाई। यह सुनकर परिजनों के होश उड़ गए। परिजनों ने बुधवार रात में ही महिला थाना में तीनों आरोपितों के खिलाफ  शिकायत दी। पुलिस ने छात्रा का मेडिकल कराने के बाद तीनों युवकों के खिलाफ जीरो एफआईआर दर्ज कर जांच के लिए मामला कनीना पुलिस को भेज दिया। फिलहाल किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पुलिस के मुताबिक लड़की रेलवे परीक्षा की तैयारी कर रही थी। वह इसके लिए महेंद्रगढ़ के कनीना में कोचिंग कर रही थी। 

अब इंसाफ के दर दर भटक रहे परिजन

छात्रा रेवाड़ी जिले की ही रहने वाली है, इसलिए उसके परिजनों ने इस मामले की जानकारी वही के थाने में दर्ज कराई। रेवाड़ी की महिला पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज कर उसे कनीना (महेंद्रगढ़) थाने भेज दिया। कनीना थाने से भी पीडि़त परिजनों को यह कहकर वापस लौटा दिया की यह मामला उनकी सीमा क्षेत्र से बाहर का है। पीडि़त परिवार का कहना है कि बेटी के लिए वह जगह जगह न्याय की भीख मांग रहा है, लेकिन पुलिस और प्रशासन में इसकी सुनवाई करने वाला कोई नहीं है।

2016 में राष्ट्रपति ने किया था सम्मानित

बता दें कि 26 जनवरी 2016 को 12वीं की सीबीएसई टॉपर रही छात्रा को राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया था। इस मामले में परिजनों के बयान सामने आने के बाद पुलिस प्रशासन चुप्पी साधे हुए हैं।


ताज़ा खबर

Visitors: 293777
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.