17th October 2018 151

वसुंधरा दीप का कार्यक्रम 'द रामायण मेट्रोपॉलिस हाल में कल होगा आयोजित


रुद्रपुर के सितारे बिखेरेंगे जलबा
रुद्रपुर। वसुंधरा दीप और सांई मीडिया सोल्यूशन के तत्वावधान में द रामायणम का कार्यक्रम कल मेट्रोपॉलिस मॉल में शाम को चार बजे से होगा। जिसमें विभिन्न स्कूलों के नन्हें बच्चे रामायण पर आधारित पात्रों की भूमिका को आकर्षक ढंग से निभाएंगे। कार्यक्रम में स्पेशल परफार्मर के रूप में स्वर्गीय पप्पू कार्की के पुत्र दक्ष कार्की को आमंत्रित किया गया है। इसके अलावा महानगर के मशहूर कोरियोग्राफर और म्यूजिशियन अपनी प्रस्तुति से आपका मन मोह लेंगे।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में विधायक राजकुमार ठुकराल, किच्छा विधायक राजेश शुक्ला, खटीमा विधायक पुष्कर सिंह धामी, सितारगंज के विधायक सौरभ बहुगुणा एवं नानकमत्ता के विधायक प्रेम सिंह राना पहुंचेंगे। वसुंधरा दीप के महाप्रबंधक भरत शाह ने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य बाल कलाकारों को मंच उपलब्ध कराना है, ताकि उनकी प्रतिभा को निखारा जा सके। उन्होंने सभी लोगों ने निर्धारित समय पर मेट्रोपॉलिस हाल पहुंच कर कार्यक्रम का आनंद उठाने की अपील की है। कार्यक्रम का संचालन बरेली की मशहूर एंकर अदिति सक्सेना करेंगी। कार्यक्रम में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर आने वाले बच्चों को पुरस्कार दिए जाएंगे। इसके अलावा पीसी ज्वैलर की तरफ से हर प्रतिभागी को सुनिश्चित गिफ्ट दिया जाएगा।
ये हैं कार्यक्रम के प्रायोजक
सुपरटेक, रूपम बेकर्स एण्ड स्वीट्स, पीसी ज्वैलर, लाहोरिया हीरो, स्पार्क मिंडा, जिम्मी गारमेंटस, गुरु मां इंटरप्राइजेज, ईशा ट्रेडर्स, कांग्रेस प्रदेश सीपी शर्मा, भाजपा नेता तरुण तेजपाल, ग्लोबल एडवरटाइजर्स, आउटडोर मीडिया ग्रुप, बीएम वीवा मार्ट, जगदीश कलर लैब, सांई मीडिया सोल्यूशन, म्यूजिक मीनिया, स्काई नाइन, रूट 87, विनोद पुस्तक भंडार
ये होंगे कार्यक्रम के खास आकर्षण
कार्यक्रम में स्व. पप्पू कार्की के पुत्र दक्ष कार्की, बीट्स एंड स्टेप्स डांस स्टूडियो, डांस ऐले, रुद्रपुर के छुपी प्रतिभाएं वरुण की वायलन परफारमेंस, सुरेश भट्ट की सेक्सोफोन परफारमेंस व अन्य स्कूलों की सुंदर प्रस्तुति होगी।
उत्तराखंड की लोकगायकी में सबसे कम उम्र में दक्ष कार्की बिखेर रहे जलवा
दक्ष कार्की उत्तराखंड के इतिहास में सबसे कम उम्र का लोक गायक है। जो वसुन्धरा दीप के कार्यक्रम में चार चांद लगाने के काम करेंगे। बता दें कि दक्ष कार्की उत्तराखंड के अमरलोक गायक स्व. पप्पू कार्की के सुपुत्र है। अपने पिता स्व. पप्पू कार्की के गाने सुन रे दगडिय़ा गाने को उन्होंने रिपीट कर दर्शकों के सामने रखा जिसे लोगों ने काफी पसंद किया। इसका अंदाजा इसकी बात से लगाया जा सकता है कि एक दिन में इस गाने को डेढ़ लाख से ज्यादा लोगों ने सुना। दक्ष मात्र 6 वर्ष के है जो अभी दूसरी कक्षा के छात्र है।
बचपन के शौक ने बना दिया शीना को डांस कोरियोग्राफर
रुद्रपुर की रहने वाली शीना ठुकराल प्रोफेशनल कोरियोग्राफर है। बता दें शीना शहर के प्रसिद्ध डाक्टर सीडी ठुकराल और माताजी प्रवीन ठुकराल की पुत्री हैं। शीना की पढ़ाई आरएएन पब्लिक स्कूल से हुई। जिसके बाद उन्होनें अंग्रेजी में स्नातक दिल्ली विश्वविद्यालय से की। शीना को बचपन से ही डांस का शौक था। इन्होंने जेज और कंटेम्परी डांस की ट्रेनिंग दिल्ली से ली है और 2 साल से रुद्रपुर के मुख्य बाजार में डांस ऐले के नाम से इनका डांस स्टूडियो है। बहुत संघर्षों से शीना ने यह मुकाम हासिल किया है। शीना का बचपन का शौक उनका पेशा बन गया। शहर के अच्छे डांसर शीना के डांस स्टूडियो डांस ऐले से प्रशिक्षित हैं।
१५ साल की मेहनत का फल है नेहा का बीट्स एंड स्टेप्स डांस स्टूडियो
रुद्रपुर की डांस टाइकून नेहा श्रीधर १५ साल से मेहनत कर रही हैं। नेहा का डांस स्टूडियो बीट्स एंड स्टे्प्स उनकी १५ सालों की मेहनत का परिणाम है। नेहा ने बेली डांस व कथक डांस का ज्ञान भटकंडे एंड प्रयाग संगीत समिति से प्राप्त किया। उन्होंने तबला व संगीत की डिग्री भी प्राप्त की है। नेहा सभी नृत्य कलाओं में निपुण हैं। वे किसी भी प्रकार के नृत्य की कोरियोग्राफी कर सकती हैं। वे शादियों, स्कूल द्वारा आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों, एरोबिक्स एन जुम्बा आदि की कोरियोग्राफी से भी भलि भांति परिचित हैं।
जम्मू के वरुण की प्रतिभा का रुद्रपुर में बोलबाला
वरुण सुंबरिया जम्मू कश्मीर के कठुआ के निवासी हैं। वरुण की प्राथमिक शिक्षा जेके बोस स्कूल से हुई। जिसके बाद उन्होंने संगीत से बीए, एमए किया व संगीत से एमफिल के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय को चुना। वरुण की संगीत गाने, सुनने में रुचि है। बता दें वरुण को यहां तक पहुंचने के लिए कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। इतनी मेहतन के बाद वरुण यहां तक पहुंच पाए हैं। वरुण के वायलन लोगों में जोश और उत्साह भर देता है।
सभी वाद्य यत्रों में निपुण हैं हरियाणा के सुभाष भट्ट
हरियाणा के रोहतक निवासी सुभाष भट्ट ने भिन्न भिन्न गुरुओं से ज्ञान प्राप्त किया है।  सुभाष कंपोजर, गजलस्टि हैं। वे बड़ी बड़ी संस्थाओं, विद्यालयों के साथ काम कर चुके हैं। उन्हें संगीत का बचपन से ही शौक था। सुभाष रुद्रपुर में संगीत में रुचि रखने वाले आर्थिक रुप से कमजोर बच्चोंके लिए इंस्टीट्यूट का मन बना रहे हैं। जिसको वो जल्द ही शुरु करेंगे। इंस्टीट्यूट के खुलने से रुद्रपुर की छिपी प्रतिभाएं निखरेंगी व उनको मंच मिलेगा।


Visitors: 304323
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.