15th March 2019 19

राष्ट्रभक्ति से ऊपर और कोई भक्ति नहीं: शुक्ल


भगवत कथा में उमड़े सैकड़ों श्रद्धालु

दिनेशपुर। ग्रामीण क्षेत्र में चल रहे नौ दिवसीय भागवत कथा के तीसरे दिन गुरुवार को देर रात्रि तक कथा वाचक के राष्ट्रीय भक्ति पर आधारित भगवान के चरणों पर हाल ही में देश के लिए शहीद हुए जांबाजों की आत्मा का शांति के लिए धुनों के साथ प्रार्थना की गई।

श्रद्धालुओं ने खड़े होकर राधे राधे की उद्घोष के साथ आनंद लिया। इस दौरान ब्रज रसिक कथावाचक पंडित उमाशंकर शुक्ल ने लोगों को बताया कि सबसे पहले राष्ट्रभक्ति, राष्ट्रभक्ति से ऊपर और कोई भक्ति हो ही नहीं सकती है। साथ ही उन्होंने कथा के क्रम में मनुष्य को काम क्रोध और लोभ को दूर रखने के लिए सबसे अच्छा उपाय सत्संग करना बताया। वहीं भगवत कथा ध्रुव चरित्र और वामन अवतार के बारे में बताया गया और उनकी जीवनी पर प्रकाश डाला गया। वहीं ब्रज ऋषि पंडित उमा शंकर शुक्ला  ने अगले दिन होने वाले कार्यक्रम की जानकारी देते हुए कहा कि आज बड़े ही धूमधाम के साथ कृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाएगा और उनकी बाल लीला से जुड़ी घटनाओं से रूबरू कराया जाएगा एवं उनकी झांकी दिखाई जाएगी।


Visitors: 335354
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.