29th November 2017 97

बकरी पालन को बनाएं मुख्य व्यवसाय: कुलपति


पंतनगर में बकरी पालन प्रशिक्षण कार्यक्रम में दी जानकारी

पंतनगर। कुलपति प्रो. एके मिश्रा ने कहा कि बकरी एक ऐसा पशु है जो गरीबों के लिए अतिलाभकारी है। उन्होंने कहा कि बकरी ही भविष्य का पशुपालन का मुख्य पशु होगा जो प्रत्येक दृष्टि से लाभकारी होने के साथ साथ मानव स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि बकरी की उन्नति एवं सम्वर्धन हेतु परियोजना के अंतर्गत दिये जा रहे विशेषज्ञों के मार्गदर्शन को कृषकों द्वारा अपनाना चाहिए। 

कुलपति पंतनगर विश्वविद्यालय के पशुचिकित्सा एवं पशुपालन विज्ञान महाविद्यालय के पशुधन उत्पाद प्रबंध विभाग में चल रही भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली द्वारा वित्त पोषित अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना, उत्तराखण्ड (बकरी इकाई) के अंतर्गत बकरी पालन पर प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

इस कार्यक्रम में अधिष्ठाता पशुचिकित्सा डा. जीके सिंह, निदशक शोध डा. एसएन तिवारी, संयुक्त निदेशक शोध डा. आरएन राम, विभागाध्यक्ष डा. डीवी सिंह ने भी अपने विचार प्रकट किए तथा बकरी पालकों हेतु इस प्रकार के प्रशिक्षणों के आयोजन करते रहने की सलाह दी। 

इस अवसर पर बकरी पालकों को मिनरल मिक्सर एवं अन्य सामग्री भी प्रदान की गई। प्रशिक्षण कार्यक्रम में परियोजना के बरा केन्द्र (सितारगंज) के सात गांवों के 60 बकरी पालक प्रतिभाग कर रहे हैं। कार्यक्रम के आयोजन में डा. आरके शर्मा, डा. एसके सिंह, डा. जेएल सिंह, डा. अनिल कुमार एवं डा. राजीव रंजन ने सहयोग दिया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन 30 नवम्बर को होगा।  


ताज़ा खबर

Visitors: 293815
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.