17th March 2019 135

प्लॉट खरीद कर फंसा मजदूर, चल बसा बेचने वाला


प्लॉट बेचने वाले की पत्नी अब प्लॉट का बयाना देने से मुकरी

पीडि़त फरियाद लेकर पहुंचा जिलाधिकारी और पुलिस के पास

छह लाख में हुआ था सौदा, एक लाख 10 हजार दिया था बयाना

रुद्रपुर। एक मजदूर अपनी गाढ़ी मेहनत की कमाई से प्लाट खरीदना चाहता था और जिसे प्लाट खरीदने के लिए रुपये दिए थे वो चल बसा। अब मृतक की पत्नी न तो प्लाट दे रही है और न ही बयाना वापस कर रही है। बदले में मजदूर को धमकियां अलग मिल रही है। पीडि़त अब फरियाद लेकर जिलाधिकारी और पुलिस के पास पहुंचा है। 

मछली मार्केट ट्रांजिट कैंप निवासी बबलू पेशे से मजदूर है। ट्रांजिट कैंप थाने पहुंचे बबलू ने बताया कि फुलसुंगा निवासी सुभाष चंद्र पुत्र मुकुंद लाल प्लाट की खरीद फरोख्त करते थे। बीते वर्ष बबलू की सुभाष से मुलाकात हुई और सुभाष ने ट्रांजिट कैंप से गुजरे नाले के सामने एक प्लाट दिखाया। प्लाट बबलू को पसंद आ गया और छह लाख रुपये में प्लाट खरीदने का सौदा तय हो गया। बबलू ने प्लाट अपनी पत्नी पूनम देवी के नाम खरीदने की ख्वाहिश जताई। सौदा तय हो गया और बबलू ने अपनी गाढ़ी कमाई से बचाए 85 हजार रुपये बतौर बयान बीते वर्ष 17 अक्टूबर को सुभाष को दे दिए। इसके बाद 15 दिसंबर को बबलू ने फिर से 25 हजार रुपये सुभाष को दिए। इसके बात तय हुआ कि बाकी के 4 लाख 90 हजार रुपये वह रजिस्ट्री के समय देगा। हालांकि उससे पहले ही बीती 4 जनवरी को सुभाष का देहांत हो गया और प्लाट अधर में फंस गया। कुछ समय बाद बबलू सुभाष की पत्नी के पास पहुंचा। जिस पर उसने प्लाट और रुपये वापस करने से इंकार कर दिया। साथ ही धमकी दी कि जो करते बने कर लो, अब कुछ नहीं मिलेगा। इसके बाद पीडि़त बबलू फरियाद लेकर पहले ट्रांजिट कैंप पुलिस के पास पहुंचा और फिर उसने बीती 25 फरवरी जन सुनवाई में जिलाधिकारी को लिखित शिकायत दी। जिलाधिकारी ने मामले को गंभीरता से लिया और कार्रवाई का भरोसा दिया। हालांकि एक माह गुजर जाने के बाद भी नतीजा सिफर रहा। आज फिर बबलू पुलिस के पास पहुंचा। बबलू का कहना है कि उसने अभी तक जो भी पैसे दिए वह स्टांप पर दिए हैं और सारे स्टांप उसके पास मौजूद है। 


Visitors: 340038
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.