31st May 2017 289

विदेश से लौटकर मोदी ले सकते हैं इस्तीफा


जा सकती है उमा भारती की कुर्सी 

भोपाल। मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती पर बाबरी मामले में आरोप तय होने के बाद उन पर केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफे का दबाव बढ़ गया है। राम मंदिर मुद्दे पर सीबीआई की स्पेशल कोर्ट के फैसले के बाद राजनीतिक गलियारों में अब यह चर्चा शुरु हो गई है कि उमा भारती मंत्री रहेंगी या नहीं। उनके मंत्री पद को लेकर सवाल उठने लगे हैं। जानकारों का कहना है कि आरोपियों में एक मात्र केन्द्रीय मंत्री उमा भारती का सरकार में बने रहना मुश्किल होगा। भाजपा के एक बड़े नेता का कहना है कि मोदी इस समय विदेश दौरे पर है और उमा के बने रहने या न रहने का फैसला मोदी के आने के बाद होगा। भाजपा सूत्र बताते हैं कि भाजपा इस मामले को फिलहाल उमा के ऊपर छोड़ेगी। अगर नैतिकता का तकाजा बताते हुए उमा भारती यदि इस्तीफा देती हैं तो सरकार स्वीकारने में देर नहीं करेगी। पार्टी फिलहाल उमा के निर्णय का इंतजार करेगी। इस बात की संभावना व्यक्त की जा रही है कि भाजपा नेतृत्व और संघ के रणनीतिकार उमा भारती को इस्तीफे के लिए तैयार कर राम मंदिर निर्माण के प्रयासों में खुलकर जुटने के लिए कह सकते है।

उमा भारती से इस्तीफा मांगा

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री उमा भारती से इस्तीफा मांग करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री इस पर आगे आना चाहिए। और विदेश दौरे से लौटते ही उमा भारती का इस्तीफा ले लेना चाहिए।


ताज़ा खबर

Visitors: 293833
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.