12th March 2019 34

कांग्रेस को समाप्त करने चाहते थे महात्मा गांधी : मोदी


प्रधानमंत्री ने बापू के बहाने कांग्रेस पर बोला हमला

कहा, कांग्रेस ने जाति धर्म के नाम पर देश को बांटा

नर्ई दिल्ली। कांग्रेस गांधी जी की जन्मभूमि पर अपनी सीडब्ल्यूसी की बैठक कर रही है, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांधी जी के बहाने कांग्रेस पर करारा हमला बोला है। मोदी ने कहा कि गांधी की विचारधारा का विरोध कांग्रेस की संस्कृति है। मोदी के मुताबिक गांधी जी असमानता और जाति व्यवस्था में विश्वास नहीं करते थे लेकिन कांग्रेस समाज को बांटने में कभी नहीं हिचकी। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी आजादी के बाद कांग्रेस को समाप्त करने के पक्षधर थे। उन्होंने कहा कि सबसे भीषण जातिवादी दंगे और नरसंहार कांग्रेस शासन काल के दौरान हुए। मोदी ने भ्रष्टाचार को लेकर भी कांग्रेस पर हमला बोला। उनके मुताबिक गांधी जी कहा करते थे कि कुशासन और भ्रष्टाचार साथ साथ चलते हैं लेकिन कांग्रेस और भ्रष्टाचार एक दूसरे के पर्याय बन गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्लॉग के माध्यम से कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए अपने ब्लॉग 'जब एक मु_ी नमक ने अंग्रेजी साम्राज्य को हिला दियाÓ में कहा कि कांग्रेस ने महात्मा गांधी के विचारों के विपरीत काम किया। महात्मा गांधी आजादी के बाद कांग्रेस को समाप्त करने के पक्षधर थे। हमारी सरकार महात्मा गांधी के बताए रास्ते पर चल रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने समाज का बंटवारा किया तथा जाति और धर्म की राजनीति की। उन्होंने कहा कि गरीबों का पैसा हड़प कर कांग्रेसी नेताओं ने अपने बैंक भरे। कांग्रेस और भ्रष्टाचार एक सिक्के के दो पहलू हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने राजनीति में परिवारवार को जन्म दिया। कांग्रेस ने लोकतंत्र का अपमान किया। राज्यों में संविधान के अनुच्छेद 356 का कई बार गलत इस्तेमाल किया। कांग्रेस ने देश को इमरजेंसी दी। कांग्रेस के नेता हमेशा कम्युनल एडजस्टमेंट करते रहे। मोदी ने कहा कि रक्षा, दूरसंचार, सिंचाई, खेल और कृषि से लेकर कोई ऐसा क्षेत्र नहीं है जहां कांग्रेस ने भ्रष्टाचार नहीं किया है। मोदी ने कहा कि गांधी जी कांग्रेस की संस्कृति जानते थे इसीलिए वो 1947 के बाद कांग्रेस को खत्म करना चाहते थे।


Visitors: 335354
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.