12th October 2018 33

राक्षसों के वध तक की हुई लीला


रुद्रपुर। किच्छा रोड स्थित रम्पुरा रामलीला मैदान में श्री राम हनुमान देवी जागरण मंडल द्वारा आयोजित मथुरा वृंदावन से आए मेहमान कलाकारों द्वारा राम, लक्ष्मण, भारत और शत्रुघन जन्म के जन्म का सुन्दर मंचन किया गया। साथ ही गुरु विश्वामित्र ने राम और लक्षण को उनके पिता दशरथ की आज्ञा लेकर राक्षसों का वध कराने तक की लीला ने दर्शकों का मन मोह लिया।

व्यास जी ने तुलसीदास द्वारा रचित सुनहु राम अवतार चरति परम सुंदर अनघ॥ अभी तुम राम के अवतार का परम सुंदर और पवित्र (पापनाशक) चरित्र सुनो। हैं कि जिसका वर्णन नहीं हो सकता तथा ब्राहमण, गो, देवता और पृथ्वी कष्ट पाते हैं, तब तब वे कृपानिधान प्रभु भांति भांति के (दिव्य) शरीर धारण कर सज्जनों की पीड़ा हरते हैं। असुर मारि थापहिं सुरन्ह राखहिं निज रुति सेतु जग बिस्तारहिं बिसद जस राम जन्म कर हेतु॥  की चौपाइयों ने भक्तों का मन मोह लिया 

इस मौके पर रामलीला कमेटी के सरंक्षक चैनसुख मिश्रा, नत्थूलाल गुप्ता, अध्यक्ष विजय गुप्ता, उपाध्यक्ष विनोद वर्मा, महामंत्री राजेश गुप्ता, कोषाध्यक्ष रवि गुप्ता, उपाध्यक्ष विनोद मिश्रा, सह महामंत्री रामकिशोर रस्तोगी, संगठन मंत्री संतोष दिवाकर, व्यवस्थापक अजय श्रीवास्तव, लेखा परीक्षक अजय गुप्ता, मीडिया प्रभारी शैलेन्द्र कोली, नितीश गुप्ता सहित कार्यकारिणी सदस्य संजय गर्जोला, डा. सतीश अरोरा, जगदीश श्रीवास्तव, गिरीश श्रीवास्तव, देवेंद्र मिश्रा, उपेंद्र गुप्ता आदि थे।


Visitors: 327829
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.