12th July 2018 206

युवक की मौत पर बवाल, ग्रामीणों ने दो शराब दुकानें जलाई


हिंसा में एसडीओपी समेत कई घायल

तीन दिन से लापता था युवक

आठनेर (बैतूल)। जिले के आठनेर में तीन दिन से लापता युवक सुमित लहरपुरे की लाश मिलने के बाद नगर में तनाव के हालात हैं। सुमित की हत्या का आरोप लगाते हुए ग्रामीण सुबह से सड़क पर उतरकर विरोध जता रहे हैं। दोपहर में ये विरोध हिंसात्मक हो गया और नाराज ग्रामीणों ने चक्काजाम के बाद तोडफ़ोड़ शुरू कर दी। इतना ही नहीं ग्रामीणों ने नगर की दो शराब दुकानों को आग के हवाले कर दिया। भीड़ ने पुलिस पर भी पथराव किया। पथराव की इस घटना में मुलताई के एसडीओपी सहित अन्य पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने हल्का बल प्रयोग किया। हालात बेकाबू होने के बाद प्रशासन ने धारा 144 लगा दी है। कलक्टर और एसपी मौके पर पहुंचे। भैसदेही एसडीओपी पीएस ठाकुर ने बताया कि पथराव में मुलताई के एसडीओपी अनिल कुमार शुक्ला को गंभीर चोट आई है।

बता दें कि लापता युवक सुमित की लाश बुधवार शाम को ताप्ती घाट के पास मिली थी। जिसके बाद से क्षेत्र में तनाव के हालात बन गए थे। परिजनों ने सुमित की हत्या की आशंका जताई थी। इस मामले में उचित कार्रवाई नहीं करने पर एसपी ने आठनेर टीआई को बुधवार रात को ही लाइन से अटैच कर दिया है।

इधर सुबह से भी लोग इस घटना के खिलाफ  सड़कों पर उतर आए। पुलिस प्रशासन के खिलाफ  जमकर नारेबाजी कर रहे हैं। सुमित के परिजन डाक्टरों की टीम से पीएम करवाने पर अड़े थे। ग्रामीणों में इतनी नाराजगी थी कि पूरे क्षेत्र में तनाव फैल गया। लोगों ने सड़क पर टायर जलाकर रास्ता रोक दिया और सड़क पर लगे चार सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ दिए। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए आसपास के थानों से पुलिस बल रवाना किया गया है।

नाराज ग्रामीणों ने बैतूल आठनेर, आठनेर भैंसदेही और आठनेर मुलताई मार्ग पर जाम लगा दिया था। इससे यात्री और स्कूल वाहन रास्ते मे ही फंस गए। जाम के चलते वाहनों की लंबी लंबी कतारें लग गई। पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे। लेकिन ग्रामीणों का गुस्सा शांत नहीं हुआ। क्षेत्र में तनाव और ग्रामीणों के हंगामे को देखते हुए प्रशासन ने सुबह ही आठनेर के सभी स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी थी। स्कूलों में पहुंचे बच्चों को सकुशल घर पहुंचाने की व्यवस्था की गई।

आपको बता दें कि नगर के हनुमान मोहल्ले निवासी सुमित पिता नंदकिशोर लहरपुरे (21) आठ जुलाई को देर रात घर से गायब था। उसकी तलाश में पिता एवं परिजन जुटे रहे, लेकिन सुमित का पता नहीं लगा तो पिता नंदकिशोर ने नौ जुलाई को गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस भी सुमित को तलाश नहीं कर पाई। इस बीच बुधवार शाम सुमित की लाश ताप्ती घाट की खाई में मिली। परिजनों का आरोप था कि सुमित के साथ कोई घटना हुई है। परिजनों का ये भी कहना है कि पुलिस ने इस मामले में गंभीरता नहीं बरती नहीं तो सुमित की जान बच सकती थी।


Visitors: 294216
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.