14th September 2018 31

तराई में विराजे विघ्नहर्ता


शोभायात्रा के साथ ही सिडकुल चौक पर गणेश की मूर्ति की हुई प्राण प्रतिष्ठा

16 सितंबर तक होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम, 17 को होगा प्रतिमा का विजर्सन

रुद्रपुर। उत्तराखंड के तराई में भी चारों ओर गणेश चतुर्थी की धूम देखने को मिल रही है। सिडकुल गणेश उत्सव समिति के तत्वाधान में आयोजित गणेश महोत्सव के लिए औरंगाबाद से लाई गई भगवान गणेश की मूर्ति को गाजे बाजे के साथ पाँच मंदिर से सिडकुल चौक तक लाया गया। इस दौरान जगह जगह पर लोगों ने शोभा यात्रा का स्वागत किया। शोभा यात्रा में पन्तनगर सिडकुल से जुड़े कई उद्योगपतियों और फैक्ट्रियों में काम करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। 

गणेश चतुर्थी के मौके पर सिडकुल गणेश उत्सव समिति के तत्वावधान में गणेश की भव्य प्रतिमा को स्थापित करने के लिए बैंड बाजे के साथ शोभायात्रा निकाली गई। आयोजकों ने भगवान गणेश की प्रतिमा का मुंह ढक रखा था। जगह जगह शोभायात्रा का स्वागत किया जा रहा था। शोभायात्रा पांच मंदिर से शुरू होकर मुख्य बाजार, गांधी पार्क, अग्रसेन चौक, सिविल लाइन्स होते हुए परशुराम चौक और वहां से सीधे सिडकुल चौराहे पर पहुंची। सिडकुल चौक पर  पूजा अर्चना के साथ गणेश जी की मूर्ति को स्थापित किया। पूजा अर्चना में यजमान के रूप में रूप पॉलीमर के हेड और समिति के कोषाध्यक्ष पीबीएस रावत अपनी धर्मपत्नी और बजाज फैक्ट्री के हेड और समिति के अध्यक्ष अनिल मोहगांवकर बैठे। उन्होंने विधिवत मंत्रोच्चार के बीच प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा कराई। गणेश महोत्सव का यह कार्यक्रम 17 सितंबर तक चलेगा। समिति के महामंत्री अजय तिवारी ने बताया की इस कार्यक्रम में 17 सितंबर तक रोजाना सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा जिसमें स्कूली बच्चों के अलावा डांस ग्रुप भी अपने कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। साथ ही 16 सितंबर को सत्यनारायण पूजा शाम चार बजे होगी। फिर सांस्कृति कार्यक्रम होंगे। 17 सितंबर को सुबह नौ बजे हवन पूजा व महाआरती होगी तथा दोपहर 12 बजे श्रीगणेश का विर्सजन होगा। उन्होंने आम लोगों से कार्यक्रम में पहुंचने की अपील की। कार्यक्रम में एसईडब्लूएस के अध्यक्ष मनोज त्यागी, समिति के उपाध्यक्ष संजय सिंघल, आशुतोष वर्मन, अनल विजय सिंह, अनूप सिंह, जितेन पटेल, मनोज सक्सेना, हरेन पाठक, अरुण टोंक, श्रीकर सिन्हा, आरके माहेश्वरी, अनिरुद्ध जोशी, वीरेश कुमार, राजेश मिश्रा, डीसी बिष्ट, जीवन सिंह नयाल, ललित मोहन जोशी, कृष्ण मोहन तिवारी, कुशल अग्रवाल, बीबी श्रीधर, राजेश छिब्बर, मंजरी बत्ता, भाजपा नेता तेजपाल, जयंत सक्सेना,  गजेंदर सिंह, आरएस पिल्लई, हरनाम चौधरी आदि मौजूद थे।   

इसके अलावा भूरारानी में भी भगवान गणेश की शोभायात्रा निकाली गई। इस दौरान लोग आपस में गुलाल से होली खेलते नजर आए। शोभायात्रा में महिलाएं कलश लेकर साथ चल रही थीं। साथ ही प्रसाद वितरण किया जा रहा था। इसके साथ ही महानगर में अनेक स्थानों पर भगवान गणेश की प्रतिमाएं स्थापित की गई हैं।

गणेश महोत्सव कराने में एसइडब्लूएस की रहती है महत्वपूर्ण भूमिका 

रुद्रपुर। गणेश महोत्सव को कराने में एसइडब्लूएस की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इस कार्यक्रम को भव्य रूप में करवाने के लिए एसइडब्लूएस के पदाधिकारी अहम भूमिका निभाते हैं। हालांकि 2012 में गणेश महोत्सव की शुरूआत तत्कालीन एसएसपी नीलेश आनंद भरणे के प्रयासों से हुई थी, जिसको करने के लिए एसइडब्लूएस ने गणेश उत्सव समिति का गठन किया। तब से ये समिति गणेश महोत्सव का कार्यक्रम करा रही है। एसइडब्लूएस के अध्यक्ष मनोज त्यागी कहते हैं की इस कार्यक्रम में एसइडब्लूएस एक अभिभावक के रूप में कार्य करती है और इस कार्यक्रम में सिडकुल से जुड़े लोग तन मन धन से हिस्सा लेते हैं। 

वायरस इवेंट को मिली है कार्यक्रम की जिम्मेदारी

रुद्रपुर। इस बार कार्यक्रम को कराने की जिम्मेदारी वायरस इवेंट कंपनी को दी गई है, जिसके लिए वायरस इवेंट कंपनी ने कार्यक्रम स्थल को भव्य रूप दिया है। कंपनी के एमडी कुलजीत सिंह कहते हैं कि उनका प्रयास लोगों का स्वच्छ परिवेश में मनोरंजन करना है जिसके लिए उनकी कंपनी से अपनी तैयारी कर ली है।

स्वच्छता का संदेश दिया कमेटी ने

रुद्रपुर। भगवान गणेश की शोभायात्रा में सबसे अच्छी व अनुकरणीय योग्य बात यह दिखाई दी कि एसईडब्लूएस  वगणेश उत्सव समिति की एक टीम साफ सफाई के लिए लगी हुई थी। जहां शोभायात्रा के आगे सफाई की जा रही थी, वहीं शोभायात्रा गुजरने के बाद सड़क पर फैली गंदगी को साफ करके की जा रही थी। अभी तक शोभायात्रा के आगे तो सफाई की जाती रही है, मगर शोभायात्रा गुजर जाने के बाद सड़क पर फैले फूलों व अन्य सामग्री को साफ करने का यह पहला मौका दिखाई दिया। समिति के उपाध्यक्ष संजय सिंघल ने बताया कि लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से साफ सफाई कराकर एक संदेश देने की कोशिश की गई है।

 


Visitors: 303447
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.