14th September 2018 1342

पढिय़े...एनएच घोटाले में अब फसेंगे नेता


कांग्रेस के खाते की जांच गतिमान

संरक्षणदाताओं के खिलाफ जुटाए जा रहे सबूत

रुद्रपुर। एनएच 74 घोटाले में कांग्रेस के खाते की जांच अभी और आगे बढ़ सकती है। घोटाले के संरक्षणदाताओं के खिलाफ भी एसआईटी सबूत जुटाने में लगी है। एसआईटी की जांच से यह बात तो साबित हुई है कि कुछ किसानों ने एवं एनएच घोटाले में जेल गई बिल्डर ने लाखों रुपये इस खाते में जमा किए थे। हालांकि खाते का संचालन नियमानुसार पार्टी के कोषाध्यक्ष, सचिव अथवा अध्यक्ष को करना होता है, फिर खाते का संचालन तत्कालीन मुख्यमंत्री के निजी सचिव कमल ने किया था, जो पार्टी के संविधान के नियमों के विपरीत है।

गौरतलब है कि खुद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कल यह बयान दिया था कि घोटाला कांग्रेस के शासनकाल में हुआ था। उन्होंने यह भी संकेत दिया था कि घोटालेबाजों को संरक्षण देने वालों तक जांच जाएगी। यहां बता दें कि एसआईटी पहले से ही कांग्रेस के स्टेट बैंक आफ इंडिया में खुले खाते की जांच कर रही है। इस खाते में एक बिल्डर जो इस समय एनएच घोटाले में जेल में हैं ने भी लाखों रुपये जमा किए थे, जिसके प्रमाण एसआईटी के पास हैं। इसके अलावा कई अन्य किसानों ने इस खाते में दान के रूप में धनराशि जमा की थी, जिन्हें एनएच 74 में मुआवजा मिला था। यानि बैक डेट में 143 कराने वाले किसानों ने कांग्रेस के खाते में रुपये जमा किया था। एसआईटी इस मामले में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष से पूछताछ कर चुकी है। कांग्रेस के खाते में लाखों की धनराशि जमा होने की जांच अभी गतिमान है। माना जा रहा है कि सबसे आखिर में एसआईटी राजनेताओं पर हाथ डालेगी। पुष्ट सूत्रों ने बताया कि एसआईटी अब उन संरक्षणदाताओं के बारे में सबूत जुटा रही है, जिनकी सरपरस्ती में यह अरबों का घोटाला हुआ। एसआईटी जांच की आंच कई सफेदपोशों के गिरबां तक पहुंच सकती है।



Visitors: 304354
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.