31st May 2017 202

योगी पहुंचे राम के धाम


मंदिर वहीं बनाएंगे और जय श्रीराम के नारों से गूंजी अयोध्या नगरी

अयोध्या। विवादित ढांचा विध्वंस मामले में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर आरोप तय होने के अगले दिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भगवान राम के जन्मस्थान अयोध्या पहुंचे। मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ का यह पहला अयोध्या दौरा है। अयोध्या पहुंचने के बाद सीएम योगी सबसे पहले हनुमानगढ़ी गए और दर्शन किए। उन्होंने यहां करीब 30 मिनट बिताए। इसके बाद वह रामलला के दर्शन के लिए गए। योगी के हनुमानगढ़ी पहुंचने पर उनके स्वागत में जुटी भीड़ ने जोशीले अंदाज में 'मंदिर वहीं बनाएंगेÓ के नारे लगाए। योगी आदित्यनाथ साल 1992 में हुए बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद ऐसे दूसरे मुख्यमंत्री हैं, जो रामलला के दर्शन के लिए गए। राजनाथ सिंह 2002 में ऐसा करने वाले सीएम थे। इसके बाद बीते 15 सालों में किसी भी मुख्यमंत्री ने यहां का दौरा नहीं किया है। 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने एक दिवसीय कार्यक्रम के तहत आज अयोध्या पहुंचे। उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार अयोध्या दौरे पर पहुंचे योगी आदित्यनाथ सबसे पहले हनुमान गढ़ी के दर्शन किए। इसके बाद उन्होंने रामजन्म भूमि पहुंचकर रामलला के दर्शन किए। क्योंकि ऐसी मान्यता है कि राम लला के दर्शन से पहले हनुमानगढ़ी में पूजा अर्चना करना आवश्यक है। पिछले 15 वर्षों के दौरान किसी मुख्यमंत्री के इस पहले अयोध्या दौरे को लेकर कई मतलब निकाले जा रहे हैं। योगी के हनुमानगढ़ी पहुंचने पर उनके स्वागत में जुटी भीड़ ने जोशीले अंदाज में 'मंदिर वहीं बनाएंगेÓ के नारे लगाए। हनुमानगढ़ी के दर्शन करने के बाद सीएम योगी रामजन्मभूमि पहुंचे जहां लोगों ने जय श्रीराम के नारे लगाए। मुख्यमंत्री ने बाद में सरयू नदी के तट पर जाकर पूजा अर्चना भी की। मालूम हो कि 1992 में विवादित बाबरी ढांचे को गिराए जाने के बाद योगी आदित्यनाथ ऐसे दूसरे मुख्यमंत्री होंगे जो रामलला के दर्शन करने अयोध्या पहुंचे हैं। इससे पहले 2002 में तत्कालीन मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह रामलला के दर्शन करने अयोध्या गए थे। योगी अपने इस दौरे के दौरान दिगंबर अखाड़ा जाएंगे। मालूम हो कि अखाड़े के महंत रहे रामचंद्र परमहंस भी अयोध्या आंदोलन का हिस्सा थे और अपनी आखिरी सांस तक विवादित स्थल पर राम मंदिर बनवाने के लिए लड़ते रहे।

अयोध्या से लड़ सकते हैं उपचुनाव

सूत्रों का कहना है कि योगी अयोध्या से ही विधानसभा का उपचुनाव लड़ सकते हैं। अभी वह गोरखपुर के सांसद हैं और मुख्यमंत्री बनने के छह महीने के भीतर उन्हें विधान मंडल के किसी सदन की सदस्यता हासिल करना जरूरी है। भाजपा साफ कर चुकी है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य विधानसभा का उपचुनाव लड़ेंगे। हाल ही में योगी सरकार ने अयोध्या के विकास से संबंधित कई फैसले किये हैं।


Visitors: 291489
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.