9th August 2018 29

एनडीए के हरि बने उपसभापति


सत्ता पक्ष के हरि को 125 व विपक्ष के 'हरि को मिले 105 वोट

पीएम ने दी बधाई जून में खाली हो गया था उपसभापति का पद

नई दिल्ली। मोदी सरकार के खिलाफ  विपक्ष की एकजुटता को संसद के मानसून सत्र में दूसरी बार हार का सामना करना पड़ा है। गुरुवार को राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए हुए दिलचस्प चुनाव में एनडीए प्रत्याशी और जेडीयू सांसद हरिवंश नारायण सिंह को शानदार जीत मिली है। उन्हें 125 वोट मिले जबकि विपक्ष के प्रत्याशी बीके हरिप्रसाद को 105 वोट मिले। 2 सांसद सदन से अनुपस्थित रहे। राज्यसभा में मौजूदा आंकड़ा 244 का है। चुनाव जीतने के लिए उपस्थित सदस्यों के आधे यानि 123 सदस्यों की जरूरत होती है। जबकि हरि नारायण सिंह 125 वोट मिले। 

बता दें कि पीजे कुरियन के रिटायरमेंट के बाद जून में राज्यसभा के उपसभापति का पद खाली हो गया था। जिसके लिए आज मतदान हुआ। एनडीए के उम्मीदवार हरिवंश नारायण सिंह को इस चुनाव में बड़ी जीत हासिल हुई है। हरिवंश सिंह जेडीयू से राज्यसभा के सांसद हैं। उन्होंने विपक्ष की ओर से कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद को मात दी। हरिवंश के पक्ष में कुल 125 वोट पड़े तो वहीं बीके हरिप्रसाद के पक्ष में कुल 105 वोट पड़े। राज्यसभा के सभापति वैंकेया नायडू ने जैसे ही हरिवंश सिंह की जीत का ऐलान किया तभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें उनकी सीट पर जाकर बधाई दी। विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने भी उन्हें जीत की बधाई दी और मिलकर जनता के मुद्दों पर साथ काम करने की अपील की। राज्यसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए उपसभापति चुनाव के नतीजों के बाद कहा कि अगस्त क्रांति में बलिया की बड़ी भूमिका थी। हरिवंश भी उसी बलिया से आते हैं। पीएम मोदी ने अरुण जेटली के राज्यसभा में वापस आने पर भी बधाई दी। पीएम ने कहा कि हरिवंश सिंह कलम के धनी हैं, उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में भी काफी बढिय़ा काम किया। वह हमेेशा से गांव से जुड़े रहे, उन्हें कभी शहर की चकाचौंध नहीं अच्छी लगी।

पहली बार एनडीए के सभापति और उपसभापति 

यह पहली बार है कि राज्य सभा के सभापति और उपसभापति दोनों पदों पर एनडीए के प्रत्याशी काबिज हैं। बता दें कि देश के उपराष्ट्रपति ही राज्य सभा के सभापति होते हैं। भाजपा के मुखर नेता वैंकैया नायडू इस समय देश के उपराष्ट्रपति हैं।

एनडीए के लिए अहम है जीत

पिछले एक महीने में यह प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाले एनडीए की दूसरी बड़ी जीत है। इससे पहले पिछले महीने अविश्वास प्रस्ताव में भी यूपीए को करारी हार का सामना करना पड़ा था। राज्यसभा में आज के चुनाव ने जहां विपक्ष के इस बिखराव को जगजाहिर कर दिया। वहीं सरकार के लिए कई महत्वपूर्ण बिलों को पास करवाने का रास्ता भी साफ कर दिया है।



Visitors: 312386
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.