30th April 2017 272

कर्नल के घर छापा, मिला एक करोड़ कैश


प्रतिबंधित पशुओं का 117 किलो मांस, 40 रायफल व 50 हजार कारतूस बरामद

मेरठ। सिविल लाइन थाना क्षेत्र के महिला थाने के सामने स्थित एक रिटायर्ड कर्नल के घर शनिवार को डीआरआई और वन विभाग की टीम ने छापा मारा। इस कार्रवाई को प्रतिबंधित वन्य जीवों के अवशेषों की तस्करी से जोड़कर देखा जा रहा है। कर्नल के घर से हिरण सहित कई प्रतिबंधित पशुओं की खाल और मांस भी बरामद हुआ है। शनिवार सुबह करीब 11 बजे कर्नल के घर दाखिल हुई टीम देर शाम तक तहकीकात में जुटी रही। बताया जा रहा है कि कर्नल के घर से विदेशी हथियार और करीब एक करोड़ रुपये भी मिले हैं।

बतादें कि रिटायर्ड कर्नल देवेन्द्र कुमार के घर दिल्ली और एनसीआर की डायरेक्टर रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) और वन विभाग की टीम ने छापा मारा। तीन गाडिय़ों में पहुंची टीम ने सिविल लाइन पुलिस को भी मौके पर तलब कर लिया और घर का दरवाजा बंद कर तलाशी लेनी शुरू कर दी। 17 घंटे की कार्रवाई में प्रतिबंधित वन्य जीवों की खाल, दांत, हिरण की खोपडिय़ां और प्रतिबंधित पशुओं का करीब 117 किलो मांस बरामद किया। इस दौरान टीम को शूटिंग की 40 राइफल्स और पिस्टल सहित करीब 50 हजार कारतूस बरामद हुए हैं। इसके अलावा कर्नल के घर से करीब 1 करोड़ रुपये मिलने की बात भी कही जा रही है। कर्नल के घर से जंगली जानवरों के शरीर के हिस्से भी मिले हैं। कार्रवाई में देवेंद्र के घर से चालीस राइफल जो कि वन विभाग की बताई जा रही हैं। डीआरआई की टीम सभी सामान सील करके अपने साथ ले गई। छापेमारी की कार्रवाई के दौरान दिल्ली से आई डीआरआई टीम के साथ वन विभाग के आला अधिकारियों और पुलिस भी मौजूद थी।

रिटायर्ड कर्नल का बेटा फरार

रिटायर्ड कर्नल देवेन्द्र के बेटे प्रशांत विश्नोई की सिक्योरिटी एजेंसी है और कई कैश वैन हैं जो एटीएम में कैश लोड करने का काम करती हैं। बताया जाता है कि उनके पास जंगल में नील गाय का शिकार करने की अनुमति है। सूत्रों के मुताबिक, कर्नल के घर पर की गई छापेमारी की कार्रवाई को वन्य जीवों की तस्करी से जुड़ा बताया जा रहा है। टीम के आने से पहले ही रिटायर्ड कर्नल का आरोपी बेटा प्रशांत बिश्नोई फरार है। मीडिया से बात करते हुए अधिकारियों ने बताया कि हथियारों के लाइसेंस परिवार वालों के पास नहीं मिले हैं। वहीं, टीम ने रिटायर्ड कर्नल से घंटों पूछताछ की और उसके बेटे प्रशांत के बारे में पूछा, लेकिन कर्नल ने पुलिस और डीआरआई टीम को उसके बारे में नहीं बताया।


Visitors: 291489
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.