31st March 2018 391

पढिय़े... किस बीज से काबू में रहेंगी दिल की धड़कन


वन अनुसंधान केन्द्र में औषधीय पौधों पर चल रहा शोध 

जीवन राज , हल्द्वानी। 

मोटापा, शुगर और ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों में रामबाण का काम करने वाली अचूक औषधि अलसी पर जल्द ही रिसर्च होगा। हल्द्वानी के वन अनुसंधान केंद्र में अलसी की पौध तैयार की जा रही है। उम्मीद जताई जा रही है कि अलसी पर हो रहे इस रिसर्च से बेहतर परिणाम देखने को मिलेंगे।

बता दें कि अलसी का वानस्पतिक नाम लाइनम यूसिटेटिसिमम है। कई रोगों में बेहतर परिणाम मिलने के बाद अब अलसी पर शोध किया जा रहा है। अलसी का बीज अभी मोटापा घटाने, कोलस्ट्रोल कम करने, पाचन शक्तिबढ़ाने के साथ साथ शुगर की बीमारी में भी काम आती है। अलसी को उगाने के लिए किसी खास वातावरण की जरूरत नहीं है। हल्द्वानी के वन अनुसंधान केंद्र में अलसी को तैयार किया जा रहा है, जिससे उस पर शोध करने की तैयारी चल रही है। विशेषज्ञ शिव दत्त तिवारी ने बताया कि अलसी के पौधे का औषधीय गुणों में बड़ा महत्तव है। यही नहीं अलसी के रेशे का सिगरेट के पेपर बनाने में इस्तेमाल किया जाता है, जबकि घरेलू प्रयोग में अलसी को चटनी, तेल के रूप में भी प्रयोग किया जाता है।

वही वन अनुसंधान केंद्र हल्द्वानी कई औषधीय पौधों पर शोध कर रहा है। जिससे इन पौधों के बेहतर परिणाम सामने आये हैं। उम्मीद की जा रही है कि अलसी पर शोध के दौरान अच्छे परिणाम आएंगे  जिससे कई जानलेवा बीमारियों से छुटकारा मिलने में मदद मिल सकेगी।

बेहतर परिणाम से लोगों तक पहुंचेगा अलसी : मदन बिष्ट

वन अनुसन्धान केंद्र हल्द्वानी के रेंजर मदन बिष्ट ने बताया कि अलसी को संरक्षित करने के लिए वन अनुसंधान केंद्र ठोस कदम उठा रहा है। जीन बैंक के जरिए अलसी को बचाया जा सकेगा, जिसके बाद इसे बेहतर उपयोग के लिए आम लोगों तक पहुंचाया जा सकें और यदि शोध में नए अच्छे परिणाम सामने आए तो अलसी को बड़े स्तर पर भी उगाया जा सकता है। फिलहाल अनुसंधान केंद्र शोध कराने की कोशिशों में जुट गया है जिससे अलसी के बेहतर परिणामों का पता लगाया जा सकें।

अलसी के बीज के फायदे

हृदय रोग के लिए 

कोलेस्टॉल कम करने के लिए

वजन कम करने के लिए

कैंसर के खतरे को कम करने के लिए

मधुमेह के लिए

पाचन शक्ति में सुधार के लिए

बालों की समस्या के लिए

त्वचा में सुधार के लिए


Visitors: 292108
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.