2nd August 2018 38

40 किलोमीटर दूर ही ध्वस्त होगी दुश्मन की मिसाइल


भारत ने स्वदेशी रक्षा कवच का किया सफल परीक्षण

2022 तक भारत की सीमाओं पर की जाएगी तैनाती

नई दिल्ली। सुरक्षा के लिहाज भारत ने गुरुवार को एक बड़ी कामयाबी हासिल की है। गुरुवार को ओडिशा कोस्ट पर भारत ने बैलेस्टिक मिसाइल शील्ड का सफल परीक्षण किया। इस शील्ड की मदद से दुश्मन की किसी भी तरह की मिसाइल को 40 किलोमीटर की रेंज में ही ध्वस्त कर दिया जाएगा।

बता दें कि अभी कुछ दिनों पहले ही रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) ने अमेरिका से 1 अरब डॉलर में 'नेशनल एडवांस्ड सर्फेस टू एयर मिसाइल सिस्टम 2Ó एनएएसएएमएस 2 को अधिग्रहण करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी। इसी कड़ी में दुश्मनों से निपटने के लिए भारत ने आज स्वदेशी बैलेस्टिक मिसाइल शील्ड का सफल परीक्षण किया। इस शील्ड की मदद से दुश्मन की किसी भी तरह की मिसाइल को 40 किलोमीटर की रेंज में ही ध्वस्त कर दिया जाएगा। एयर डिफेंस के लिहाज से भारत के लिए ये एक बड़ी उपलब्धि है। अभी इस शील्ड का परीक्षण किया गया है। 2022 तक ये शील्ड भारत की सीमाओं की रक्षा करने के लिए तैयार हो जाएगी। इस पूरे मिशन को मानवीय हस्तक्षेप के साथ मिशन कंप्यूटर के तहत पूरा किया गया है। परीक्षण के दौरान रडार, मॉनिटरिंग सिस्टम, इलेक्ट्रो ऑप्टिकल ट्रैकिंग सिस्टम और टेलिमेटरी सिस्टम का इस्तेमाल किया गया।

गौरतलब है कि जिस तरह भारत के पड़ोस में पाकिस्तान और चीन जैसी बड़ी शक्तियां हैं और उनकी टेढ़ी निगाहें लगातार भारत पर बनी रहती हैं। ऐसे में इस तरह का डिफेंस सिस्टम हमारे देश के लिए एक बड़ी कामयाबी है। वॉशिंगटन और मॉस्को की तरह केंद्र की मोदी सरकार देश की राजधानी दिल्ली को अभेद्य सुरक्षा प्रदान करने की तैयारी में है। इसके तहत दुश्मन चाहकर भी राजधानी पर मिसाइल, ड्रोन और विमान से हमला नहीं कर पाएंगे। 


Visitors: 294146
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.