12th May 2017 211

बसपा में उबाल, कई नेताओं ने छोड़ी पार्टी


सामने आने लगी है सियासी दलों की अंदुरूनी कलह

लखनऊ। विभिन्न राजनीतिक दलों में चल रही अंदुरूनी कलह अब खुल कर सामने आने लगी है। पहले समाजवादी पार्टी के कुनबे का तमाशा सबने देखा। फिर आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल पर भ्रष्टचार पर आरोप उन्हीं के मंत्री ने लगाए। अब बसपा अध्यक्ष मायावती पर उनके खासमखास नसीम उद्दीन सिद्दीकी ने न सिर्फ 50 करोड़ रुपये मांगने का आरोप लगाया, बल्कि मायावती से हुई बातचीत के कई आडियो टेप भी जारी कर दिए। नसीम उद्दीन की बर्खास्तगी के बाद बसपा में उबाल है। बसपा के पूर्व महासचिव इरशाद खां, पूर्व राज्यमंत्री शलाउद्दीन सिद्दीकी, गोंडा के बसपा नेता अरशद अली खां एवं बसपा के पूर्व कोषाध्यक्ष ज्ञानचंद्र निषाद ने पार्टी छोडऩे का ऐलान कर दिया है।

राजनीतिक दलों में जिस तरह घमासान मचा है उससे उनके अस्तित्व पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती के फैसले के खिलाफ पार्टी में उबाल आ गया है। नसीमउद्दीन के समर्थक मुस्लिम नेता अब बसपा को बाय बाय कर रहे हैं। गौरतलब है कि बसपा में नसीमउद्दीन सिद्दीकी लंबे समय से मायावती के विश्वासपात्र नेता रहे हैं। जो आडियो रिलीज किए गए हैं उसमें भी अप्रत्यक्ष रूप से रुपयों के लेन देन की बात हो रही है। श्री सिद्दीकी ने आरोप लगाया कि मायावती ने मुस्लिमों के लिए अपशब्द कहे। मुसलमानों को गद्दार कहा। जब मायावती ने नसीम उद्दीन को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया तो उन्होंने मायावती का असली चेहरा समाज के सामने लाने के लिए प्रेस कांफ्रेंस करके सब कुछ सार्वजनिक कर दिया। बसपा में फिर भगदड़ मच गई है। नसीम उद्दीन के समर्थक बसपा के पूर्व महासचिव इरशाद खां, पूर्व राज्यमंत्री शलाउद्दीन सिद्दीकी, गोंडा के बसपा नेता अरशद अली खां एवं बसपा के पूर्व कोषाध्यक्ष ज्ञानचंद्र निषाद ने पार्टी छोडऩे की घोषणा कर दी है। बसपा छोडऩे वालों का सिलसिला जारी है। यहां बता दें कि मायावती के साथ ही नसीम उद्दीन ने पार्टी के राष्ट्रीय नेता सतीश चंद्र मिश्रा को भी लपेट लिया है।


Visitors: 291484
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.