16th April 2017 286

पत्थरबाजों की कैशलेस फंडिंग कर रहा पाक


कश्मीर को सुलगाने के लिए पाक की नई साजिश 

श्रीनगर। कश्मीर घाटी में हिंसा की आग को सुलगाए रखने के लिए पाकिस्तान की फंडिंग जारी है। अब खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई पत्थरबाजों तक पैसा पहुंचाने के लिए नई तरकीब इस्तेमाल कर रही है।

एनआईए के सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि पाकिस्तान कश्मीर में हिंसा फैलाने वालों को कैशलेस तरीके से पहुंचा रहा है। इस काम के लिए सदियों पुरानी विनिमय प्रणाली यानी बार्टर सिस्टम का सहारा लिया जा रहा है।

दरअसल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के साथ अक्टूबर 2008 से बार्टर सिस्टम से 21 सामानों का कारोबार होता है। कारोबार का ये रास्ता दोनों देशों के बीच आपसी भरोसा बढ़ाने के लिए किया गया था, लेकिन पाकिस्तान में आतंक के आका इसका इस्तेमाल कश्मीर घाटी को सुलगाने के लिए कर रहे हैं। एनआईए सूत्रों की मानें तो आईएसआई ने पत्थरबाजों की फंडिंग के लिए पीओके में बाकायदा फंड मैनेजर तैनात किये हैं। ये एजेंट सरहद पर सामान के आदान प्रदान की फर्जी इन वॉयसिंग का सहारा लेते हैं। आयात और निर्यात के सामान की कीमत कम करके दिखाई जाती है और बाकी पैसे का बड़ा हिस्सा अलगाववादियों तक पहुंचाया जाता है।

इस साल पहुंचाए 10 करोड़

इस तरीके से अब तक गड़बड़ी फैलाने वालों को 75 करोड़ रुपये दिये गए हैं। इसमें 10 करोड़ सिर्फ इसी साल कश्मीर पहुंचाए गए हैं।

एनआईए कर रही जांच 

पत्थरबाजों को पाकिस्तानी फंडिंग का खुलासा पिछले साल हुआ था। एनआईए इस मामले में तीन दर्जन से ज्यादा ट्रेडिंग कंपनियों के खातों की जांच कर रही है। इस सिलसिले में कई लोगों से भी पूछताछ की जा रही है। हालांकि केंद्रीय गृह मंत्रालय का कहना है कि बार्टर सिस्टम के जरिये इस कारोबार को बंद करने की फिलहाल कोई प्लान नहीं है। 


Visitors: 294193
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.