29th July 2018 64

भूकंप के 11 झटकों दहला इंडोनेशिया, 10 लोगों की मौत


४० घायल, दर्जनों मकान क्षतिग्रस्त

बढ़ सकती है मरने वालों और घायलों की संख्या

जकार्ता। इंडोनेशिया के लोम्बोक द्वीप में रविवार को 6.4 तीव्रता वाला भूकंप का झटका महसूस किया गया। एक के बाद एक करीब झटकों से इंडोनेशिया हिल गया। भूकंप से 10 लोगों की मौत हो गई जबकि 40 लोग घायल हो गए हैं। इसके अलावा सैकड़ों मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। यह जानकारी यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे (यूएसजीएस) ने दी है। मरने वालों और घायलों की सख्यां बढ़ सकती है।

यूएसजीएस ने बताया कि इस शक्तिशाली भूकंप का केंद्र सात किलोमीटर की गहराई में था और यह स्थानीय समय के अनुसार 06.47 बजे आया। उन्होंने बताया कि भूकंप इस द्वीप के मुख्य शहर माटरम से 50 किलोमीटर दूर उत्तर पूर्वी क्षेत्र में आया।

लोम्बोक इंडोनेशिया का लोकप्रिय पर्यटन स्थल है और यह रिसोर्ट के लिए मशहूर द्वीप बाली से 100 किलोमीटर पूर्व में स्थित है। इंडोनेशिया के भू भौतिकी एवं मौसम एजेंसी ने बताया कि 6.4 तीव्रता का भूंकप आने के बाद 11 और झटके महसूस किये गये। इंडोनेशिया आपदा प्रबंधन एजेंसी के एक प्रवक्ता सुतोपो पुरवो नुग्रोहो ने बताया कि पूर्वी लोम्बोक में एक व्यक्ति और उत्तरी लोम्बोक में दो लोगों की मौत हो गयी। हालांकि, यह नहीं बताया गया है कि इन पीडि़तों की मौत कैसे हुई। उत्तरी लोम्बोक में इस भूकंप में कम से कम दो दर्जन लोग घायल हो गये और एक घर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। नुग्रोहो ने बताया कि भूकंप की वजह से भूस्खलन की आशंका को देखते हुए माउंट रिंजानी पर हाइकिंग ट्रेल बंद कर दिया गया है।

एजेंसी के प्रवक्ता हैरी टिर्टो दजातमिको ने एक बयान में बताया कि अब तक सुनामी का अलर्ट जारी किया गया है। इंडोनेशिया में भूकंप आने की आशंका ज्यादा बनी रहती है, क्योंकि यह क्षेत्र पैसिफिक रिंग्स ऑफ फायर (भूकंप और ज्वालामुखीय विस्फोटों की रेखा) में स्थित है। ये रेखा प्रशांत महासागर के लगभग पूरे हिस्से को घेरती है। दुनिया के आधे से ज्यादा सक्रिय ज्वालामुखी इसी रिंग ऑफ  फायर का हिस्सा हैं।

इंडोनेशिया में आपदा प्रबंधन करने वाली एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुरवो नुगरोहो ने कहा कि करीब 40 लोग घायल हुए हैं। दर्जनों मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। हमें लगता है कि घायलों और मृतकों की संख्या अभी बढ़ सकती है। हमने अभी आंकड़े जुटाना शुरू नहीं किया है। नुगरोहो ने भूकंप से हुए नुकसान की कुछ तस्वीरें भी ट्वीट की हैं।

एक चश्मदीद ने कहा कि बहुत तेज भूकंप था। सब कुछ हिल गया। लोग घबराये हुए इधर उधर भाग रहे थे। भूकंप आने के कुछ ही मिनटों में पूरे शहर की बिजली चली गयी थी। यहां बताना प्रासंगिक होगा कि वर्ष 2016 में सुमात्रा द्वीप के उत्तर पूर्वी तट पर 6.5 तीव्रता का भूकंप आया था। इसमें दर्जनों लोगों की मौत हो गयी थी और 40,000 से अधिक लोग विस्थापित हुए थे।


Visitors: 312387
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.