15th April 2018 90

हल्द्वानी में लिटरेचर फेस्टिवल का शानदार आगाज


वित्तमंत्री प्रकाश पंत ने किया दीप प्रज्वलित

वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा द्वारा लिखित मंगली एक पटकथा का विमोचन

जल्द प्रदेश में चार भाषा एकेडमी की होगी  शुरूआत : पंत

हल्द्वानी। महानगर में पहली बार लिटरेचर फेस्टिवल का आज शानदार आगाज हुआ है। इस मौके पर प्रदेश के वित्त एवं संसदीय कार्यमंत्री प्रकाश पंत ने दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर लगाई गयी आर्ट गैलरी एवं ख्यातिलब्ध लेखकों एवं कवियों द्वारा लिखित एवं रचित पुस्तकों की प्रदर्शनी का भी पंत द्वारा अवलोकन किया गया और इस आयोजन की प्रशंसा भी की गई। 

 वित्त प्रकाश पंत ने साहित्यकारों और उपन्यासकारों को बधाई देते हुए कहा कि राज्य सरकार हिंदी साहित्य और भाषाओं को संरक्षित करने के लिए विधानसभा में एक्ट लाई है जिसे जल्द धरातल पर उतारा जाएगा। पंत ने कहा कि सरकार हिंदी साहित्यकारों को जो कि अपनी पुस्तकों को प्रकाशित करने में सक्षम ना हो उनके लिए भी प्रदेशभर में चार भाषा एकेडमी खोल उनके प्रकाशन का कार्य करने जा रही है जिससे हिंदी साहित्य और लेखक, उपन्यासकारों को आगे बढ़ावा मिलेगा। 

पंत ने अपना युवावस्था का स्मरण करते हुए बताया कि उनके द्वारा राजनैतिक क्षेत्र मे पदार्पण करने से पूर्व अनेकों कहानियों, कवितायें एवं साहित्यिक पुस्तकें लिखी है। दर्शकों को उन्होंने अपनी कई कविताएं एवं कहानियां भी सुनाई। वही कार्यक्रम में टीवी पत्रकार दिनेश मानसेरा द्वारा लिखित मंगली एक पटकथा का विमोचन किया गया।  वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा ने बताया कि उनके द्वारा साहित्य के क्षेत्र में यह प्रयास निश्चय ही विस्तार लेगा। मानसेरा ने बताया कि इसी माह विशाल पुस्तक मेले का आयोजन बुक ट्रस्ट ऑफ  इण्डिया द्वारा हल्द्वानी में किया जायेगा। एक दिवसीय कार्यक्रम में शासकीय और साहित्य लेखन बातें उपन्यासकारों की तथा मीडिया से गायब होता साहित्य विषयों पर लेखकों एवं बुद्धिजीवियों द्वारा परिचर्चा की गई। गौरतलब है कि हिंदी लिटरेचर फेस्टिवल में देशभर के हिंदी साहित्यकार, उपन्यासकार हल्द्वानी पहुंचे हैं। इस फेस्ट में मॉडल मनीश मेहता, मनमोहन जोशी, तनुजा जोशी, प्रमोद साह, अवनीश राजपाल, आलोक सिंह, वरूण अग्रवाल, दिनेश पाण्डे, संजीव भगत, शिखर आहूजा महत्वपूर्ण योगदान दिया। 

कार्यक्रम में बतौर अतिथि प्रशासनिक अधिकारी एवं लेखक डा. रणवीर सिंह चौहान, ललित मोहन रयाल, अमित श्रीवास्तव के अलावा लेखक एवं उपन्यासकार गीता श्री, प्रतिपाल कौर, विजय त्रिवेदी, विनीत कुमारए, अतुल सिन्हा, हृदयेश जोशी, सोनाली मिश्रा, टीवी एंकर रिचा अनिरूद्व, अभिसार शर्मा, प्रकाश हरर्बोला, मनोज पाठक, गुरवीन चडडा, मनीष मेहता, मनमोहन जोशी, तनुजा जोशी, प्रमोद शाह, अवनीश राजपाल, आलोक सिंह, वरूण अग्रवाल, दिनेश पाण्डे, संजीव भगत, शिखर आहूजा, अतुल बरतरिया, डा. संजय ढिगरा, डा. पंकज साह आदि कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।



Visitors: 292159
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.