29th April 2018 111

ट्रैक्टर चालक की मौत हत्या या हादसा


देर रात कैलाश नदी पर गया था खनन करने

सिर व शरीर में चोट दे रहे हत्या का संकेत

एसडीएम ने तहसीलदार को जांच के लिए मौके पर भेजा 

सितारगंज। साधूनगर के समीप कैलाश नदी में खनन करने गए एक भाजपा नेता के ट्रैक्टर चालक की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। उसके सिर में दिखाई दे रहे कई जख्म हत्या की ओर इशारा कर रहे हैं। परिजनों ने भी हत्या की आशंका जताई है। एसडीएम ने तहसीलदार शेर सिंह गब्र्याल को मौके पर जांच करने भेजा है।

जानकारी के अनुसार रात्रि करीब दो बजे साधुनगर के समीप कैलाश नदी में सितारगंज के भाजपा नेता ज्ञानी मंजीत सिंह के ट्रैक्टर चालक नंद किशोर की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। बताया जाता है कि वह बरेली के मोहल्ला अतरिया का निवासी है। 18 वर्षीय नंद किशोर पुत्र ओमप्रकाश भाजपा नेता ज्ञानी मंजीत सिंह का ट्रैक्टर चलाता था । वह रात्रि में ट्रैक्टर लेकर साधुनगर के समीप कैलाश नदी स्थित खनन क्षेत्र में गया। जहां संदिग्ध परिस्थिति में उसकी मौत हो गई। उसके सर समेत कई जगह चोट के निशान हैं, जो हत्या की ओर इशारा कर रहे हैं। परिजनों ने भी नंदकिशोर की हत्या की आशंका जताई है। पुलिस ने उसके शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए खटीमा भेज दिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है। 

यह भी कहा जा रहा है कि नंदकिशोर ट्रैक्टर ट्राली लेकर नदी में खनन सामग्री लेने गया था। नजदीक से गुजर रहे कुछ वाहनों की लाइटें देखकर घबरा गया और ट्रैक्टर ट्राली लेकर भाग खड़ा हुआ। कहा जा रहा है कि वाहनों अपने को नजदीक आता देख कर वह चलते ट्रैक्टर से कूदकर भागने के चक्कर में नीचे गिर गया और ट्राली की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौत हो गई। हालांकि इस कहानी में कितना दम है यह तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। सवाल यह भी है कि आखिर रात में कैलाश नदी पर आने वाले वाहन किसके थे? यदि वाहन आने की बात सच है तो वाहन सवार लोगों ने नंदकिशोर की मदद क्यों नहीं की? इस मामले में एसडीएम का कहना है कि उन्होंने तहसीलदार को मौके पर जांच करने भेजा है।


Visitors: 291491
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.