14th September 2018 1074

पढिय़े...रुद्रपुर के जैन ग्लोबल स्कूल में मिला वानर मुख वाला उल्लू


दुर्लभ प्रजाति का यह उल्लू मनुष्य व फसलों के लिए लाभकारी

वन विभाग की टीम पहुंची मौके पर

रुद्रपुर। भगवानपुर में स्थित जैन ग्लोबल स्कूल में मंकी फेस्ड आउल (दुर्लभ प्रजाति का उल्लू) मिला है। यह गोल्डन व भूरा रंग का है। दुर्लभ प्रजाति का उल्लू मिलने की जानकारी स्कूल के पुष्कर जैन ने वन विभाग को दी। सूचना मिलने पर पहुंची वन विभाग की टीम ने उल्लू को पकड़कर अपने कब्जे में ले लिया है।

शुक्रवार को जब जैन ग्लोबल स्कूल खुला तो उसमें दुर्लभ प्रजाति का उल्लू मिला। इस उल्लू को देखने के लिए स्कूली बच्चों के साथ ही आस पास के लोगों की भी खासी भीड़ जुटी। यह उल्लू बंदर के चेहरे जैसा है, जिसे मंकी फेस्ड आउल कहा जाता है। पूरे विश्व में उल्लू की प्रजातियां काफी कम हैं। इंडिया में तीन प्रजातियों में उल्लू पाए जाते हैं। भूरे और गोल्डन रंग के इस उल्लू के बारे में यह कहा जाता है कि यह मनुष्य के लिए आर्थिक लाभ पहुंचाने वाला होता है। यह पुराने भवनों में अथवा पीपल, बरगद व गूलर के पेड़ों के खोखले भाग में अक्सर निवास करता है। साथ ही इसे सूखा स्थान प्रिय होता है। बताया जाता है कि फसलों के लिए यह उल्लू काफी शुभ माना जाता है। इसका आहार चूहे व फसलों को नुकसान पहुंचाने वाले अन्य कीट होते हैं। स्कूल में उल्लू मिलने की जानकारी वन विभाग को दी गई। वन विभाग की टीम दुर्लभ प्रजाति के उल्लू को लेने स्कूल को रवाना हो गई है। वन विभाग के सूत्रों के अनुसार बरामद उल्लू बॉन उल्लू कहा जाता है।

 


Visitors: 305147
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.