21st September 2018 374

आधी रात शराब के लिए शराबियों का उत्पात


ठेका बंद होने के बाद शराब न मिलने से भडक़ गए शराबी युवक

हथियारों से लैस शराबियों ने बोला शराब की कैंटीन पर धावा

सीसीटीवी में कैद हुई पूरी वारदात, कैंटीन संचालक घायल

रुद्रपुर। दुकान बंद होने के बाद आधी रात शराब लेने पहुंचे शराबियों ने जमकर उत्पात मचाया। पहले शराबियों ने सेल्समैन से मुंहजोरी की और जब बात नहीं बनी तो मौके पर साथियों को बुला लिया। हथियारों से लैस साथियों ने शराब दुकान की कैंटीन पर धावा बोल दिया और कैंटीन संचालक को पीट कर बुरी तरह घायल कर दिया। शराबियों द्वारा अंजाम दी गई पूरी वारदात रात सीसीटीवी में कैद हो गई। कैंटीन संचालक की तहरीर और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने एक युवक को हिरासत में ले लिया है। जबकि अन्य शराबियों की तलाश में पुलिस दबिशें दे रही है। 

लालपुर में एक शराब का ठेका है। बताया जाता है कि रोज की तरह बीती रात 10 बजे भी ठेका बंद किया जा रहा था। तभी मौके पर कुछ युवक पहुंचे और उन्होंने शराब के सेल्समैन से शराब की डिमांड की इस पर सेल्समैन ने यह कहते हुए मना कर दिया कि अब ज्यादा हो चुकी है और दुकान बंद हो चुकी है। इसी बात पर सेल्समैन और शराबी युवकों के बीच नोकझोंक हो गई। जब उन्हें शराब नहीं मिली तो युवक वापस चले गए। इधर, शराब सेल्समैन शराब की दुकान के साथ बनी कैंटीन में आ गया। कुछ ही देर में शराबी युवक अपने तमाम साथियों के साथ लाठी डंडे और हथियारों से लैस होकर कैंटीन में पहुंच गए और सेल्समैन की पिटाई करने लगे। तभी कैंटीन संचालक शिवनगर ट्रांजिट कैंप निवासी रतन पुत्र गणेश बीच बचाव के लिए आगे आ गया। इस पर शराबियों ने सेल्समैन को छोड़ कर कैंटीन संचालक पर हमला बोल दिया। जिसमें कैंटीन संचालक बुरी तरह घायल हो गया। इधर, लोगों की भीड़ बढ़ती देख शराबी युवक जान की धमकी देते हुए फरार हो गए। रात ही कैंटीन संचालक रतन ने जसवीर सिंह पुत्र निरंजन सिंह निवासी महराजपुर, सन्नी निवासी लालपुर, बग्गी निवासी लालपुर के खिलाफ लालपुर पुलिस चौकी में तहरीर दी है। इधर, सूचना मिलते ही लालपुर पुलिस मौके पर जा पहुंची। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर युवकों को चिह्नित कर लिया है। जिसके बाद पुलिस ने रात ही एक युवक को गिरफ्तार भी कर लिया। जबकि अन्य युवकों की तलाश की जा रही है। 

बोले, कैंटीन चलानी है तो देनी होगी रंगदारी

कैंटीन संचालक रतन ने तहरीर देते हुए पुलिस को बताया कि जब बीच बचाव के लिए आगे बढ़े तो शराबियों ने उन्हें भी घेर लिया। शराबियों का कहना था कि रतन कैंटीन में अवैध काम करा रहा है और अगर इस काम को आगे भी जारी रखना है तो इसके एवज में उन्हें 20 हजार रुपया महीना देना होगा। अगर हर माह पैसे नहीं मिले तो वह कैंटीन भी नहीं चला पाएगा। वहीं रतन का कहना है कि आरोप निराधार है। युवक कैंटीन चलाने के एवज में रंगदारी की मांग कर रहे हैं। 

नहीं मिले ट्रांजिट कैंप में गोली चलाने वाले 

हाल ही में ट्रांजिट कैंप में ही रंगदारी का एक मामला सामने आया था। जहां बाइक सवार नकाबपोश हथियारबंद बदमाशों ने एक ट्रांसपोर्ट के दफ्तर पर फायर झोंका और पांच लाख रुपये रंगदारी की मांग की थी। इस वारदात से ठीक एक दिन पहले ही पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ रंगदारी का मुकदमा दर्ज किया था। आरोपियों ने धमकी दी थी कि अगर पांच लाख रुपये न मिले तो वह ट्रांसपोर्ट नहीं खुलने देंगे और ट्रांसपोर्ट मालिक की गोली मार कर हत्या कर देंगे। आरोपी पुलिस की पहुंच से दूर हैं।



ताज़ा खबर

Visitors: 293833
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.