29th January 2017 130

सपा कांग्रेस का हुआ महा गठबंधन, राहुल और अखिलेश ने की प्रेस वार्ता


प्रचार करना या न करना प्रियंका के ऊपर : राहुल गांधी

मायावती और आरएसएस में तुलना मत कीजिए राहुल गांधी

सपा कांग्रेस गठबंधन गंगा यमुना के मिलन की तरह राहुल गांधी

हम क्रोध की राजनीति रोकना चाहते हैं : कांग्रेस उपाध्‍यक्ष

हम 300 से ज्‍यादा सीटें जीतेंगे अखिलेश यादव

जिन्‍होंने नोटबंदी के नाम पर लोगों को लाइन में खड़ा किया, उन्‍हें जवाब मिलेगा अखिलेश यादव

बड़े नेताअों का आशीर्वाद बना रहे, बस हम चुनाव जीत जाएंगे : अखिलेश यादव

नई दिल्‍ली/लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक साथ रोड शो करने से पहले सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी मीडिया से मुखातिब हुए. राहुल गांधी ने साझा प्रेस कान्‍फ्रेंस को संबोधित करने की शुरुआत करते हुए कहा कि 'उतर प्रदेश ने इतिहास में अलग अलग समय पर दुनिया को जवाब दिया. उसी तरह आज हम गुस्‍से, बांटने की राजनीति का जवाब दे रहे हैं. यह एक तरह से गंगा और यमुना का मिलन है. इस गठबंधन से प्रदेश की जनता को फायदा होगा'. उन्‍होंने कहा कि अखिलेश की नीयत यूपी को बदलने की थी, इसलिए हम साथ हुए |

वहीं, अखिलेश यादव ने कहा कि 'खुशी की बात है कि हम हमें और राहुल गांधी को साथ मिलकर काम करने का मौका मिला है. ये विकास का गठबंधन है. लोग चाहते हैं कि यह गठबंधन प्रदेश के लिए उत्‍तम हो. अब प्रदेश में काम तेजी से होगा. सपा और कांग्रेस लोगों में भरोसा पैदा करेगी. हम 300 से ज्‍यादा सीटें जीतेंगे. यह गठबंधन लोगों में प्रेम और सदभाव बढ़ाने का काम करेगा. लोग मन बनाकर बैठे हैं कि वोट किसे देना है. जिन्‍होंने लोगों को लाइन में खड़ा कर दिया, उन्‍हें जवाब मिलेगा. अखिलेश ने आगे कहा कि आने वाले समय में हम और राहुल गांधी देश को आगे बढ़ाने का काम करेंगे'. अखिलेश ने कहा कि लोगों ने कहां अच्‍छे दिन देख लिए. भाजपा का घोषणा पत्र दिल से नहीं, दिमाग से बनाया गया था |

राहुल गांधी ने पत्रकारों के सवाल में कहा कि 'युवाओं की सोच तेजी से यूपी में आगे बढ़े, इसलिए हम अखिलेश यादव के साथ गठबंधन कर रहे हैं. हम क्रोध की राजनीति को रोकना चाहते हैं, जिससे देश को नुकसान पहुंच रहा है'. राहुल ने आगे कहा कि हम प्रदेश के युवाओं को नई तरीके की राजनीति का एक रास्‍ता देना चाहते हैं. सपा और कांग्रेस प्रदेश की खातिर समझौता कर रहे हैं |

इस चुनाव में मुलायम सिंह और सोनिया गांधी क्‍या गठबंधन के प्रचार में शामिल होंगे? एनडीटीवी के इस सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि जो हमारी विचारधारा को पसंद करते हैं, वो इसमें शामिल हो सकते हैं. यूपी के डीएनए में गुस्‍सा नहीं, बल्कि भाईचारा और प्‍यार है. वहीं, अखिलेश ने कहा कि हम दोनों पर बड़े नेताओं का आशीर्वाद बना रहे.. बस हम चुनाव जीत जाएंगे |

राहुल गांधी ने कहा कि 'मैं पर्सनली बीएसपी प्रमुख मायावती और पार्टी के संस्‍थापक कांशीराम का सम्‍मान करता हूं'. उन्‍होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि 'मायावती और आरएसएस में तुलना मत कीजिए' |

राहुल गांधी बोले, अभी राम मंदिर के मुद्दे पर बोलना सही नहीं होगा  राम मंदिर के सवाल पर राहुल ने कहा कि यह मामला अभी कोर्ट में हैं, जो अदालत कहेगी, वही होगा. चुनाव से पहले बीजेपी इस मुद्दे को हर बार निकालती है, लेकिन मामला अदालती होने के चलते अभी मेरा इस पर बोलना ठीक नहीं होगा |

दरअसल, राहुल और अखिलेश के इस रोड शो को 'विकास से विजय की ओर' नाम दिया गया है. रोड शो के लिए ख़ास तरह के रथ को तैयार किया गया है. इस रोड शो के लिए खास तौर पर गठबंधन का नया प्रचार गीत 'यूपी को ये साथ पसंद है' भी तैयार किया गया है. जाहिर है यूपी में इस नए गठबंधन के बाद दोनों ही पार्टियां अपने समर्थकों की ज़्यादा से ज़्यादा भीड़ दिखाकर ताकत दिखाने की कोशिश में हैं. उल्‍लेखनीय है कि यूपी की 403 विधानसभा सीटों पर 7 चरणों में चुनाव होने हैं. गठबंधन के तहत सपा 298 और कांग्रेस 105 सीटों पर चुनाव लड़ रही है |


Visitors: 292086
© 2018 Vasundhara Deep News. All rights reserved.