- Join Our Whatsapp Group -
Home विदेश तूफान 'यूनिस' ने यूरोप में मचाया कहर, 9 की मौत, जानिए कैसे...

तूफान ‘यूनिस’ ने यूरोप में मचाया कहर, 9 की मौत, जानिए कैसे पड़ा इस चक्रवात का नाम

लंदन: ब्रिटेन में शक्तिशाली तूफान यूनिस का खतरा मंडराया हुआ है. इसके कारण पूरे पश्चिमी यूरोप में 9 लोगों की मौत हो गई और इसका असर उड़ानों, ट्रेनों पर भी पड़ा है. यूनिस तूफान के कारण नीदरलैंड में भी ऊंची इमारतों को नुकसान पहुंचा है. लंदन में यूनिस को लेकर मौसम का रेड अलर्ट जारी किया गया है. लाखों ब्रिटिश लोगों को अपने घरों में और सुरक्षित स्थानों पर रहने की सलाह दी गई है. दक्षिणी इंग्लैंड, साउथ वेल्स और नीदरलैंड में भी मौसम को लेकर अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग के अनुसार, यहां हवा की रफ्तार 100 मील प्रति घंटा होने की संभावना है. मौसम विभाग ने लोगों से सुरक्षा के लिए जरूरी उपाय अपनाने को कहा है. कहा जा रहा है कि यूनिस 32 सालों में सबसे खतरनाक तूफान हो सकता है.

यूनिस सीजन का पांचवां नामित तूफान है, जो पिछले साल नवंबर में अरवेन से शुरू हुआ था. तूफान का नामकरण यूके मेट ऑफिस द्वारा किया गया है, जिसने 2015 में सिस्टम शुरू किया था. बाद में आयरलैंड और नीदरलैंड में पूर्वानुमानकर्ता शामिल हुए. तूफानों का नाम लोगों को गंभीर मौसम के संभावित प्रभावों से अवगत कराने के लिए रखा जाता है.

बीबीसी के अनुसार, मौसम कार्यालय मेट ऑफिस से जनता को नाम सुझाने के लिए कहता है और हर साल एक नई सूची प्रकाशित की जाती है, जो अगले साल सितंबर से अगस्त के अंत तक चलती है. इस वर्ष के लिए तूफान के नामों की पूरी सूची है: अरवेन, बर्रा, कोरी, डुडले, यूनिस, फ्रैंकलिन, ग्लेडिस, हरमन, इमानी, जैक, किम, लोगान, मेभ, नसीम, ओल्वेन, पोल, रूबी, सीन, टिनेके, वर्जिल, विलेमियन.

एक तूफान का नाम कब रखा जाता है? 

मौसम कार्यालय के अनुसार, तूफान जैसी मौसम की घटना को एक नाम तब दिया जाता है जब यह उच्च प्रभावों के माध्यम का कारण बनता है, या यूनिस के मामले में एम्बर या रेड अलर्ट पैदा करने की क्षमता रखता है.

तूफानों का नामकरण करते समय ध्यान देने योग्य महत्वपूर्ण बातें 

यूके मेट ऑफिस तूफान का नामकरण करते समय अक्षर Q, U, X, Y या Z को छोड़ देता है. ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि अमेरिकी तूफान के नामों से उसके नाम मैच ना हों.

तूफान यूनिस इतना गंभीर क्यों है?

यूके के मौसम विभाग के अनुसार, यूनिस 1987 के “ग्रेट स्टॉर्म” के समान है, इसकी त्रासदी इसी वर्ष अक्टूबर महीने में देखने को मिली थी, जब इसकी तेज हवाओं ने पूरे ब्रिटेन और फ्रांस में कोहराम मचा दिया था, जिसमें 22 लोगों की मौत हुई थी. दोनों में “स्टिंग जेट” होने की भविष्यवाणी की गई है – जिसमें संकीर्ण हवाएं एक तूफान के रूप में 100 किमी से कम दायरे में तेज हवाएं पैदा कर सकती है. स्टिंग जेट का नाम पहली बार 2003 में सामने आया था. स्टिंग जेट का पूर्वानुमान लगाना बहुत मुश्किल होता है और यह तूफानों को और भी खतरनाक बनाता है.

Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read

गाली गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ किया केस दर्ज

गाली गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ किया केस दर्ज       काशीपुर। होटल के...

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की हुई मौत

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की हुई मौत     काशीपुर। अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की मौत हो गई। पुलिस ने शव...

अंकिता भंडारी के पैतृक गांव डोभ श्रोकोट पहुंची कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या, परिवार के प्रति जताई सहानुभूति

सरकार पीड़ित परिवार के साथ है खड़ी, दी जाएगी हर संभव मदद -रेखा आर्या*     सरकार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए किया फ़ास्ट ट्रैक...

नन्हे कदम की मुहिम जिद…जिंदगी बचाने के तहत ब्लड कैम्प में हुआ 211 यूनिट रक्तदान

नन्हें कदम टीम द्वारा नारायण हॉस्पिटल एंड ट्रॉमा सेंटर के सहयोग से मुहिम जिद...जिंदगी बचाने की के तहत गुरुद्वारा बाबा दीप सिंह, पशियापुर, बिलासपुर...
Related News

गाली गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ किया केस दर्ज

गाली गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ किया केस दर्ज       काशीपुर। होटल के...

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की हुई मौत

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की हुई मौत     काशीपुर। अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की मौत हो गई। पुलिस ने शव...

अंकिता भंडारी के पैतृक गांव डोभ श्रोकोट पहुंची कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या, परिवार के प्रति जताई सहानुभूति

सरकार पीड़ित परिवार के साथ है खड़ी, दी जाएगी हर संभव मदद -रेखा आर्या*     सरकार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए किया फ़ास्ट ट्रैक...

नन्हे कदम की मुहिम जिद…जिंदगी बचाने के तहत ब्लड कैम्प में हुआ 211 यूनिट रक्तदान

नन्हें कदम टीम द्वारा नारायण हॉस्पिटल एंड ट्रॉमा सेंटर के सहयोग से मुहिम जिद...जिंदगी बचाने की के तहत गुरुद्वारा बाबा दीप सिंह, पशियापुर, बिलासपुर...

कार्य मे लापरवाही करने वालों पर CDO का एक्शन, निगम के दो कर्मचारियों के वेतन पर लगाई रोक

रुद्रपुर। मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा ने नगर निगम रूद्रपुर के सफाई निरीक्षक उदयवीर सिंह एवं अमित नेगी के माह सितम्बर 2022 का वेतन...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!