spot_imgspot_img
spot_imgspot_img
Homeउत्तराखंडग्राम फिरोजपुर के लोगों ने वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पीसीयू चेयरमैन राम...

ग्राम फिरोजपुर के लोगों ने वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पीसीयू चेयरमैन राम मेहरोत्रा को सौंपा ज्ञापन

Spread the love

ग्राम फिरोजपुर के लोगों ने वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पीसीयू चेयरमैन राम मेहरोत्रा को सौंपा ज्ञापन

काशीपुर। सन् 1975-1976 में आवंटित अनुसूचित जाति भूमिहीन परिवारों को उत्तरप्रदेश आदेशानुसार शासन ने 100 एकड़ भूमि पर बसाया था जिन्हें नैनीताल हाईकोर्ट द्वारा बेदखल करने का आदेश दिया है। इस आदेश को रोकने की मांग को लेकर मानपुर फिरोजपुर गांव के लोगों ने आज वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पीसीयू चेयरमैन राम मेहरोत्रा को एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में ग्रामीणों ने अवगत कराया कि सन् 1975 से पूर्व वे नबलपुर काशीपुर के स्थाई निवासी थे। सन् 1975-1976 में उत्तर प्रदेश शासन से उन्हें 100 एकड़ कृषि भूमि तथा 5 एकड़ आवासीय भूमि ग्राम मानपुर फिरोजपुर तहसील काशीपुर में पट्टे पर दी गई थी। वर्ष सन् 1986-1987 में राजस्व विभाग एवं वन विभाग द्वारा क्षेत्र का संयुक्त सर्वेक्षण सभी परिवारों की भूमि की पैमाइश कर भू-चित्र तैयार किया गया। 21 फरवरी 1987 को सभी परिवारों के मुखिया के पहचान पत्र राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा दर्ज किये गये। 100 एकड़ वन भूमि पट्टे पर दिये जाने की स्वीकृति सन् 1976 में शासन से प्राप्त हो चुकी थी। राज्यपाल उत्तराखण्ड सरकार के आदेशानुसार सन् 2014 में वन विभाग, राजस्व विभाग, चकबंदी विभाग बन्दोवस्त विभाग द्वारा संयुक्त सर्वेक्षण कर सूची तैयार की गयी, जो उत्तराखण्ड सरकार को भेजी गयी थी। वर्तमान में ग्राम फिरोजपुर की इस भूमि पर अनुसूचित जाति के 800 गरीब परिवार अपने पक्के मकान बनाकर निवास कर रहे हैं और सरकार की सारी जन कल्याण की सुविधाओं का लाम भी ले रहे हैं। इनमें 90 प्रतिशत प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण योजना से भी आवास बने हैं। बताया कि 21 दिसम्बर 2023 रिट संख्या 376 ;एस/बीद्ध 2023 में उच्च न्यायालय ने उन्हें बेदखल करने का आदेश जारी किया हैं, जो कि न्याय संगत नही हैं। क्योंकि वे अपने घर जमीन ग्राम शहीद नगर नबलपुर कलोनी काशीपुर से विस्थापित किये गये थे। ऐसे ही अपने घर जमीन छोड़कर सरकार द्वारा दी गयी भूमि पर बसाये गये थे। अब सबाल यह है कि अनुसूचित जाति के गरीब परिवार कहां जायेंगे। मांग की कि हाईकोर्ट नैनीताल द्वारा दिये गये बेदखली के आदेश को रोकने के लिए कदम उठाये जायें ताकि ग्रामीणों को दिक्कत न हो। ज्ञापन सौंपने वालों में जय सिंह गौतम, सत्येन्द्र गौतम, उमेश, लेखराज, गुरनाम सिंह गामा, रवि प्रजापति, लोकेश, मित्रपाल, राजपाल, विदेश पाल, तोताराम, विजय सिंह, मथुरीलाल गौतम व सपना गौतम समेत अन्य ग्रामीण मौजूद थे।


Spread the love
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News
error: Content is protected !!