spot_imgspot_img
spot_imgspot_img
Homeउत्तराखंडकाशीपुर बार एसोसिएशन द्वारा एसडीम कोर्ट के सामने दूसरे दिन भी धरना...

काशीपुर बार एसोसिएशन द्वारा एसडीम कोर्ट के सामने दूसरे दिन भी धरना प्रदर्शन किया गया

Spread the love

काशीपुर बार एसोसिएशन द्वारा एसडीम कोर्ट के सामने दूसरे दिन भी धरना प्रदर्शन किया गया

काशीपुर। काशीपुर बार एसोसिएशन द्वारा एसडीएम कोर्ट के सामने दूसरे दिन भी धरना विशाल धरना प्रदर्शन किया गया। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय चौधरी के नेतृत्व में बार एसोसिएशन के सदस्यों द्वारा एसडीम कोर्ट के सामने धरना प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर बोलते हुए एसोसिएशन अध्यक्ष ने कहा कि जिला अधिकारी उधमसिंहनगर द्वारा 210 एलआर एक्ट आदि के केस काशीपुर व जसपुर से हटाकर अपने यहां स्थानांतरित कर लिए गए हैं, जिससे सुलभ न्याय मिलने पर परेशानी होती है। आज सवाल न्याय का है, और गरीबों के हक का है। काशीपुर बार एसोसिएशन एवं जसपुर बार एसोसिएशन का एक प्रतिनिधि मण्डल जिलाधिकारी उधमसिंहनगर के पास गया था लेकिन वह एसोसिएशन के पदाधिकारियों से नहीं मिले जिससे जसपुर, काशीपुर बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं में भारी रोष व्याप्त है। एसोसिएशन के सचिव प्रदीप चौहान ने कहा कि अधिवक्ता गरीबों को न्याय के लिए विधिक राय देता है जिससे गरीबों को न्याय मिलता है। वरिष्ठ अधिवक्ता शैलेंद्र कुमार मिश्रा ने कहा कि काशीपुर व जसपुर के साथ पहले से ही अन्याय होता चला आया है। अफसोस ये है कि समस्त क्षेत्र में दलालों, माफियाओं व ब्लैकमेलरों का बोलबाला है। सस्ता और सुलभ न्याय के लिए आवश्यक है कि काशीपुर से स्थानांतरित सभी फाइलें जसपुर एवं काशीपुर वापस भेजी जाएं। बार काउंसिल ऑफ उत्तराखंड के पूर्व अध्यक्ष एवं सदस्य हरीश नेगी ने कहा कि अधिवक्ताओं के साथ अनदेखा व्यवहार हो रहा है। तमाम क्षेत्रों में दलाल व माफिया सक्रिय हैं। आमजन के साथ न्याय नहीं हो रहा है, जबकि न्याय का सिद्धांत है कि आमजन को सस्ता एवं सुलभ न्याय मिले। अधिवक्ताओं की मांगे पूरी होने तक धरना जारी रहेगा। इस मौके पर उप सचिव अनिल कुमार शर्मा, उपाध्यक्ष ताजबर अब्बास, कोषाध्यक्ष सनत पैगिया, आय-व्यय निरीक्षक भास्कर त्यागी, पुस्तकालय अध्यक्ष कैलाश बिष्ट, समस्त कार्यकारिणी सदस्य प्रेस प्रवक्ता शैलेंद्र कुमार मिश्रा एवं रहे रहमत अली खान तथा हरीश नेगी उमेश जोशी, रामकुंवर चौहान, धर्मेंद्र तुली, आनंद रस्तोगी कश्मीर सिंह एडवोकेट आदि बड़ी संख्या में अधिवक्ता उपस्थित थे।


Spread the love
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News
error: Content is protected !!