- Join Our Whatsapp Group -
Home उत्तराखंड आप नेता दीपक बाली ने मेयर ऊषा चौधरी और विधायक चीमा पर...

आप नेता दीपक बाली ने मेयर ऊषा चौधरी और विधायक चीमा पर लगाया करोड़ों के घोटाले का आरोप

जनता ने जिन्हे कुर्सी पर बैठाया था वह कूड़े में रुपए ढूंढते रहे : दीपक बाली

एक और पार्षद अनिल चौहान एवं पूर्व पार्षद कृष्ण अवतार भी आप पार्टी में हुए शामिल

काशीपुर ।आम आदमी पार्टी के विधायक प्रत्याशी एवं चुनाव कैंपेन कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष दीपक बाली ने आज यहां प्रेस वार्ता कर भाजपा की नगर निगम की मेयर श्रीमती उषा चौधरी एवं 20 वर्षों से भाजपा के विधायक चले आ रहे हैं हरभजन सिंह चीमा पर गंभीर आरोप लगाए हैं और करोड़ों के इस घोटाले के संबंध में प्रदेश के महामहिम राज्यपाल को पत्र लिखकर पूरे प्रकरण की एसआईटी जांच कराने और दोषी पाए जाने पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है ।आज श्री बाली की प्रेस वार्ता में नगर निगम के एक और पार्षद वार्ड 38 से अनिल चौहान तथा पूर्व पार्षद कृष्णअवतार भी आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए और पार्षद अनिल चौहान ने भी महापौर के ऊपर अनेक गंभीर आरोप लगाए हैं और उनकी कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह खड़ा किया है। आप प्रत्याशी दीपक बाली ने मौजूदा पार्षद और पूर्व पार्षद को पार्टी की सदस्यता दिलाई।
दीपक बाली ने आरोप लगाया कि विधायक और मेयर की सांठगांठ के चलते काशीपुर नगर निगम में कूड़ा निस्तारण को लेकर जो अनुबंध किए गए उनमें करोड़ों रुपए का बंदरबांट किया गया। जिस धर्म कांटे पर कूड़ा तोलना दर्शाया गया है वह धर्म कांटा काशीपुर क्षेत्र में है ही नहीं और ना ही शुभ दर्शन नाम के इस धर्म कांटे का माप तोल कार्यालय में कोई पंजीकरण है । इससे भी बड़े आश्चर्य की बात है कि शुभ दर्शन धर्म कांटे के नाम की जो पर्ची लगाई गई है उस पर उस धर्म कांटे का कोई पता भी नहीं लिखा है कि वह है तो कहां है। श्रीबाली ने बताया कि 1 अप्रैल 2019 से दिए गए कूड़ा निस्तारण के ठेके की अवधि 3 वर्ष थी मगर संदिग्ध कारणों के चलते यह ठेका मात्र 17 महीने में खत्म कर दिया गया। प्रथम 1 महीने में कूड़े की जो तुलाई की गई वह आरके फ्लोर मिल नाम के धर्म कांटे से कराई गई जबकि तोल की पर्चीयां शुभ दर्शन धर्म कांटे के नाम से लगाई गई ।तुलाई के खर्चे के मांग पत्र में भी आर के फ्लोर मिल दर्शाया गया है जबकि पर्चियां शुभ दर्शन धर्म कांटे की ही है भुगतान भी हुआ जो इस जांच का विषय है कि भुगतान नगर निगम द्वारा किसे किया गया जब धर्म कांटा ही काशीपुर क्षेत्र में नहीं है। श्री बाली ने आरोप लगाया कि विधायक हरभजन सिंह चीमा भी चूकिं नगर निगम के पदेन सदस्य हैं और उन्हें निगम की बैठकों में जाने का पूरा अधिकार है तो क्या उनके संज्ञान में यह मामला नहीं आया होगा और यदि आया तो उन्होंने उसे क्यों दबाए रखा? उनकी खामोशी के पीछे क्या कारण रहा? 1 अप्रैल 2019 से शुरू हुए कूड़ा निस्तारण के ठेके में 17 महीने तक ओस्तन जो खर्च आया वह 42 से 69लाख रुपए प्रतिमाह तक पहुंच गया। श्री बाली ने कहा कि जब वे राजनीति में आ गए तो कूड़ा निस्तारण का वही खर्च अगले अनुबंध में मात्र साठे 26 लाख रुपए रह गया ।इसका मतलब या तो पेट्रोल डीजल सस्ता हुआ या फिर मजदूरी सस्ती हुई अथवा काशीपुर की जनता ने कूड़ा ही डालना बंद कर दिया ।अगर ऐसा नहीं है तो मेयर साहिबा बताएं कि जो कूडा पूर्व में 42 से 69 लाख रुपए प्रतिमाह तक उठाया जा रहा था वह मेरे राजनीति में आने के बाद मात्र साढे26 लाख रूप्रति माह क्यों हो गया ।इसका मतलब 17 माह तक जनता के खून पसीने की कमाई को दोनों हाथों से लूटा गया ।ठेके का टेंडर करते समय जो टेंडर किया गया उसकी प्रक्रिया में शासन से नियुक्त नगर स्वास्थ्य अधिकारी को क्यों नहीं शामिल किया गया ?और उनकी जगह एक स्थानीय कर्मचारी को चार्ज देकर नगर स्वास्थ्य अधिकारी की भूमिका अदा कराई गई ।जब 25 लाख से ऊपर के ठेकों की ई टेंडरिंग होने का नियम है तो फिर वह क्यों नहीं कराई गयी ?और केवल दो ही संस्थाओं को टेंडर प्रक्रिया में शामिल मानकर ठेका क्यों किया गया? जबकि नियम टेंडर डालने वाली 3 संस्थाओं के टेंडर डालने का है। श्री बाली ने कहा कि कूड़ा निस्तारण की टोल की परचियों पर वाहनों के नाम तो लिखे गए हैं मगर उनके नंबर नहीं लिखे हैं। उन्होंने कहा कि मैं साक्ष्यों के आधार पर आरोप लगा रहा हूं और देखना अब यह है कि मेरे ऊपर विधायक या मेयर मुकदमा कराते हैं या फिर काशीपुर की जनता के हित में मुकदमा मेरे द्वारा कराया जाता है। श्री बाली ने इस घोटाले के लिए भारतीय जनता पार्टी को भी दोषी ठहराया और कहा कि उसने भ्रष्ट लोगों को टिकट देकर जनता को लूटने के लिए छोड़ दिया लेकिन काशीपुर का दुर्भाग्य है कि यहां की जनता ने जिन्हें कुर्सी पर बैठाया था वह कूड़े में पैसा तलाश रहे हैं। शहर के विकास पर जो पैसा खर्च होता वह नेताओं ने लूट लिया और बेचारी जनता इंतजार कर रही है विकास का।

Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read

गाली गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ किया केस दर्ज

गाली गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ किया केस दर्ज       काशीपुर। होटल के...

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की हुई मौत

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की हुई मौत     काशीपुर। अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की मौत हो गई। पुलिस ने शव...

अंकिता भंडारी के पैतृक गांव डोभ श्रोकोट पहुंची कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या, परिवार के प्रति जताई सहानुभूति

सरकार पीड़ित परिवार के साथ है खड़ी, दी जाएगी हर संभव मदद -रेखा आर्या*     सरकार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए किया फ़ास्ट ट्रैक...

नन्हे कदम की मुहिम जिद…जिंदगी बचाने के तहत ब्लड कैम्प में हुआ 211 यूनिट रक्तदान

नन्हें कदम टीम द्वारा नारायण हॉस्पिटल एंड ट्रॉमा सेंटर के सहयोग से मुहिम जिद...जिंदगी बचाने की के तहत गुरुद्वारा बाबा दीप सिंह, पशियापुर, बिलासपुर...
Related News

गाली गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ किया केस दर्ज

गाली गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ किया केस दर्ज       काशीपुर। होटल के...

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की हुई मौत

अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की हुई मौत     काशीपुर। अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की मौत हो गई। पुलिस ने शव...

अंकिता भंडारी के पैतृक गांव डोभ श्रोकोट पहुंची कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या, परिवार के प्रति जताई सहानुभूति

सरकार पीड़ित परिवार के साथ है खड़ी, दी जाएगी हर संभव मदद -रेखा आर्या*     सरकार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए किया फ़ास्ट ट्रैक...

नन्हे कदम की मुहिम जिद…जिंदगी बचाने के तहत ब्लड कैम्प में हुआ 211 यूनिट रक्तदान

नन्हें कदम टीम द्वारा नारायण हॉस्पिटल एंड ट्रॉमा सेंटर के सहयोग से मुहिम जिद...जिंदगी बचाने की के तहत गुरुद्वारा बाबा दीप सिंह, पशियापुर, बिलासपुर...

कार्य मे लापरवाही करने वालों पर CDO का एक्शन, निगम के दो कर्मचारियों के वेतन पर लगाई रोक

रुद्रपुर। मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा ने नगर निगम रूद्रपुर के सफाई निरीक्षक उदयवीर सिंह एवं अमित नेगी के माह सितम्बर 2022 का वेतन...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!