Homeउत्तराखंडआत्मसम्मान पर पहुंची ठेस तो महिला को उतारा मौत के घाट, SSP...

आत्मसम्मान पर पहुंची ठेस तो महिला को उतारा मौत के घाट, SSP पंकज भट्ट के निर्देशन में 200 CCTV कैमरों की मदद से हाथ लगा हत्यारोपी; जानें घटनाक्रम

Spread the love

हल्द्वानी। नैनीताल पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने हल्द्वानी के मंडी में हुए हत्याकांड मामले का खुलासा किया है। साथ ही एक युवक को भी गिरफ्तार किया है।
बता दें बीती 5 मई 2023 को वादी रोहित मेहरा पुत्र गोपाल सिंह मेहरा निवासी अमिया अमृतपुर भीमताल व लक्ष्मण सिंह बर्गली पुत्र जगत सिंह बर्गली निवासी इंद्रपुरी चोरगलिया ने कोतवाली हल्द्वानी में आकर तहरीर दी कि दिनांक 5-5-2023 को वादी रोहित मेहरा पुत्र श्री गोपाल सिंह अपने घर से शादी समारोह फूलचौड को जा रहे थे। उसकी पुत्री का वाकर सास नंदा देवी निवासी की अर्जुनपुर गोरापड़ाव के घर में ही था। जिसके लिए अपनी सास को फोन किया तो उनका फोन स्विच ऑफ आ रहा था। तब वह अपनी सास के घर पर समय 1:45 बजे दोपहर गया तो देखा कि सास के घर के आगे उनकी दुकान है जो सास चलाती हैं वह भी बंद थी। आवाज लगाने पर कोई उत्तर नहीं आया, घर का मेन गेट देखा जोकि आधा खुला हुआ था। वह अंदर गया तो देखा कि मेन गेट का ताला चाबी अंदर कमरे के बरमदे में रखे घड़े के ऊपर थे तथा कमरे के दरवाजे का ताला चाबी जमीन पर गिरा हुआ था और कमरे खुले हुए थे। जैसे ही वादी ने घर के कमरे में देखा तो कमरे के अंदर दरी खून से सनी हुई थी तथा सास को मारकर कमरे से घसीटते बरमादे से होकर बाथरूम तक ले जाने के खून के निशान पड़े थे। बाथरूम का आधा दरवाजा खुला हुआ था तथा सास का सिर खून से सना था जो टब के अंदर डाला हुआ था जिसमें काफी खून दिख रहा था और उनके गले में दुपट्टा कसकर बांधे हुए था। वादी ने तत्काल डायल 112 पर कॉल करके पुलिस को बुलाया। सूचना मिलते ही पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और दामाद की तहरीर के आधार पर कोतवाली हल्द्वानी में मुकदमा दर्ज कर किया।
डायल 112 की सूचना पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हल्द्वानी द्वारा पुलिस बल के साथ तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया गया। मौके पर ही उच्च अधिकारियों को हत्या की सूचना दी गई। सूचना पर पंकज भट्ट वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल, डॉ. जगदीश चंद्र एसपी क्राइम ट्रैफिक नैनीताल, हरबंस सिंह एसपी सिटी हल्द्वानी, भूपेंद्र सिंह धोनी क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी घटनास्थल पर पहुंचकर घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण कर मौके पर ही फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया। जिनके द्वारा महत्वपूर्ण साक्ष्य एकत्रित किये गए।
एसएसपी पंकज भटट द्वारा हत्या का शीघ्र अनावरण करने अधीनस्थ अधिकारियों को अवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। अभियोग के अनावरण के लिए डॉ0 जगदीश चन्द्र पुलिस अधीक्षक अपराध/यातायात नैनीताल , हरबन्स सिंह अपर पुलिस अधीक्षक हल्द्वानी, भूपेंद्र सिंह धोनी सीओ सिटी हल्द्वानी के पर्यवेक्षण में 04 अलग- अलग टीमों का गठन किया गया। हरेंद्र चौधरी प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हल्द्वानी, नन्दन सिंह रावत थानाध्यक्ष कालाढुंगी, प्रमोद पाठक थानाध्यक्ष काठगोदाम, नीरज भाकुनी थानाध्यक्ष वनभूलपुरा, रमेश बोरा थानाध्यक्ष मुखानी, राजवीर सिंह नेगी एस ओ जी प्रभारी नैनीताल गठित पुलिस टीमों को अलग अलग टास्क देकर घटना के अनावरण हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गए।
घटना के अनावरण के लिए  सूचना संकलन हेतु मुखबिर खास मामूर किये गये तथा पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल के आसपास के लगभग 200 सीसीटीवी फुटेज का अवलोकन किया गया एंव सर्विलांस टीम द्वारा सी डी आर का विश्लेषण तथा अन्य टीमों द्वारा आसपास के स्थानों मेंनिवास कर रहे बाहरी व्यक्तियों, मजदूरों आदि के चरित्रवृत्त के सत्यापन की कार्यवाही की गयी। एसएसपी नैनीताल द्वारा पुलिस टीमों द्वारा की जा रही कार्यवाही की लगातार मॉनीटरिंग की जाती रही।
उक्त टीमों द्वारा निरंतर पारम्परिक पुलिस के तरीकों को अपनाते हुए पतारसी सुरागरसी करते हुए मुखबिरों द्वारा दी जा रही सूचनाओं का परीक्षण करते हुए आसपास के आपराधिक प्रवृत्तियों के व्यक्तियों, नशेड़ियों एँव नन्दी के परिवार से किसी भी रूप में रंजिश/विवाद रखने वाले एँव मृतका के घर/दुकान में आने जाने वाले व्यक्तियों से गहनता से पूछताछ करते हुए लाभप्रद सूचनाएँ एकत्र की गयी लगभग 200-300 व्यक्तियों से पूछताछ के उपरान्त हत्या किये जा सकने वाले कई कारणों का गहनता से परीक्षण किया गया। इसी क्रम में मुखबिर खास से सूचना मिली की किसी व्यक्ति द्वारा जुए में पैसे हारने के बाद एक मोबाईल जुए में ही एक स्थानीय व्यक्ति के पास यह कहकर गिरवी रखा गया था कि अगले दिन पैसे वापस देकर मोबाईल वापस ले जाऊँगा लेकिन उक्त व्यक्ति गिरवी रखे गये उक्त मोबाईल को वापस नही ले गया है और काफी दिनों से अपने घर से गायब है। उक्त तथ्य की जब गहनता से जाँच की गयी तो जिस व्यक्ति के पास मोबाईल गिरवी रखा गया था उस व्यक्ति से मोबाईल प्राप्त कर उसे चैक किया गया तो उक्त मोबाईल मृतका नन्दी देवी का होना एंव हत्या के उपरांत घर से लूटा जाना तस्दीक हुआ। मोबाईल गिरवी रखने वाले व्यक्ति के सम्बन्ध में कई लोगों से जाँच करने पर उक्त व्यक्ति का नाम मनोज पुरी निवासी नवाबगंज बरेली उ0प्र0 ज्ञात हुआ कि उक्त व्यक्ति मृतका के पड़ोस के ही एक स्थानीय व्यक्ति के मकान में किराये में अकेले निवास करता है तथा गौला में रेता/बजरी भरने का कार्य करता है। उक्त मनोज पुरी को तलाश करने पर वह घर से गायब मिला जिसकी तलाश हेतु मुखबिर मामूर किये गये आज दिनाँक 17.05.2023 को मुखबिर की सूचना पर उक्त व्यक्ति मनोज पुरी पुत्र शंकर निवासी हररपुर मटकली तहसील नवाबगंज थाना हाफिजगंज जिला बरेली उ0प्र0 को डिबेर तिराहा गोरापड़ाव समय 09.20 बजे गिरफ्तार किया गया।
पूछताछ में युवक ने बताया की 4 मई को मैं पडोस की नन्दी आन्टी की दुकान में बीडी का बण्डल लेने गया था मेरे पास खुले पैसे नहीं थे। मैने उनसे बीड़ी का बण्डल उधार मांगा तो आन्टी ने मुझसे नाराज होकर बोला कि पता नहीं कहां- कहां से कुत्ते साले उधार मांगने आ जाते हैं। मैंने उनसे बोला बीडी का बण्डल उधार नहीं देना है तो मत दो मै जा रहा हूँ । लेकिन ऐसे अपशब्द नहीं बोलो तो वह और ज्यादा गन्दे तरीके से अपशब्द कहने लगी । नन्दी आन्टी द्वारा बोले गये अपशब्द मेरे दिल में बूरी तरह चुभ गये फिर में अपने कमरे में आ गया। कमरे पर नन्दी आन्टी के कहे गये अपशब्द सोच – सोच कर मुझे बहुत गुस्सा आने लगा और मैने यह तय कर लिया कि मैं इस औरत को नहीं छोडूंगा और जान से मार दूँगा चूँकि मुझे पैसों की भी तंगी थी तो सोचा कि नन्दी आन्टी के घर पर जो भी माल मिलेगा वो भी ले आऊंगा। फिर उसी कमरे में ही आन्टी को कैसे मारूंगा इस बात का प्लान सोचने लगा चूँकि उस सडक में काफी लोगों एवं वाहनों का आना जाना रहता हैं इस कारण मैं रात्रि के सुनसान समय का इन्तजार करने लगा और रात्रि दो बजे करीब जब मैने देखा कि अब सब लोग सो गये हैं और गाडियों की आवाजाही भी कम हो गयी है तो मैंने अपने कमरे से चारपाई के नीचे रखा हथौडा ऊठाया और अपनी कमर में डालकर आन्टी के घर की ओर चला सोचा रोड से निकलूंगा तो कोई मुझे देख लेगा इसलिए मैं अपने घर के सामने स्थित जंगल से होता हुए सीधे आन्टी के घर के सामने रोड पर निकला और वाटर पार्क वाले जंगल में जाने वाले रास्ते पर छिप गया वहाँ से आन्टी का दरवाजा साफ दिखाई देता है मैने आन्टी के बाहर आने का इन्तजार किया करीब दो बजकर तीस मिनट पर में जंगल से निकला और रोड पार कर आन्टी की दीवार कूदकर अन्दर दरवाजे के बगल में आंगन में छिप गया काफी देर इन्तजार करने के बाद दरवाजा खोलने की आवाज आयी मैं दरवाजे के सामने हाथ में हथौडा लेकर खडा हो गया आन्टी ने जैसे ही दरवाजा खोला और पर्दा हटाया जैसे उनकी नजर मुझ पर पडी तो वह सकपकाकर एकदम चिल्लाई फिर मैने एकदम से अपने हाथ में पकडे हुए हथौडे से आन्टी के सिर पर जोरदार वार किया आन्टी अपने घर के अन्दर की ओर गिर गयी फिर मैने पांच – छः बार लगातार हथौडे से आन्टी के सिर पर वार किये जिससे आन्टी चित हो गयी फिर मैंने उसके गले में पहने दुपट्टे से उसका गला गांठ लगाकर घोंट दिया फिर आन्टी को दुपट्टे के सहारे उठाकर खींचकर उसके बाहर आगन में बने टॉयलेट में ले गया और उसका सिर पानी से भरे टब में डूबाकर उसको वहीं छोड दिया और सीधे आन्टी के घर के अन्दर गया और घर से बैग, कपड़े कुछ नगदी एँव मोबाईल आदि लेकर अपने कमरें में जंगल के रास्ते होते हुए आ गया। शनिवार को गौला गेट में जुआं खेलते खेलते मैं पैसे हारने पर मैंने उक्त मोबाईल जुआ खेल रहे एक व्यक्ति के पास गिरवी रख दिया था. दि0 09/05/2023 मंगलवार को छुट्टी थी मैं अपने घर बरेली चला गया।
गिरफ्तार अभियुक्तगण की पहचान मनोज पुरी पुत्र शंकर निवासी हररपुर मटकली तहसील नवाबगंज थाना हाफिजगंज जिला बरेली उ0प्र0 के रूप में हुई है। जिसके पास से एक मोबाईल नोकिया की पैड मृतका नन्दी देवी का, एक लाल शूटकेश मृतका का जिसके अन्दर मृतका के कपडे सूट, साड़ी आदि, एक पन्नी में मृतका नन्दी देवी के घर से ले जाए गये दस्तावेज, नगद धनराशि, एक अदद आला कत्ल हथौड़ा बरामद हुआ है।
गिरफ्तारी करने वाली टीम में हरेन्द्र चौधरी प्रभारी निरीक्षक कोतवाली, नीरज भाकुनी थानाध्यक्ष बनभूलपुरा, प्रमोद पाठक थानाध्यक्ष काठगोदाम, नन्दन सिंह रावत थानाध्यक्ष कालाढूंगी, विजय मेहता एसएसआई हल्द्वानी, राजवीर सिंह नेगी प्रभारी एसओजी, उ0नि0 दिनेश जोशी चौकी प्रभारी राजपुरा, उ0नि0 जगदीप नेगी चौकी प्रभारी मंगलपडाव, उ0नि0 गुलाब सिंह चौकी प्रभारी मण्डी, उ0नि0 पंकज जोशी चौकी प्रभारी टीपीनगर, हे0कानि0 कुन्दन कठायत एसओजी, हे0कानि0 त्रिलोक रौतेला एसओजी, हे0कानि0 इसरार नवी एसओजी, कानि0 अशोक रावत एसओजी, कानि0 अनिल गिरी एसओजी, कानि0 अरूण रौठोर कोतवाली हल्द्वानी, कानि0 बंशीधर जोशी कोतवाली हल्द्वानी, कानि0 अनिल टम्टा कोतवाली हल्द्वानी, कानि0 घनश्याम सिंह रौतेला कोतवाली हल्द्वानी आदि शामिल रहे। कार्यवाही करने वाली टीम को एसएसपी पंकज भट्ट ने पांच हजार रुपये ईनाम देने की घोषणा की है।


Spread the love
Must Read
Related News
error: Content is protected !!