Homeउत्तराखंडसेवानिवृत्त जिला शिक्षा अधिकारी हुए ठगी का शिकार

सेवानिवृत्त जिला शिक्षा अधिकारी हुए ठगी का शिकार

Spread the love

सेवानिवृत्त जिला शिक्षा अधिकारी हुए ठगी का शिकार

 

 

काशीपुर। सेवानिवृत्त जिला शिक्षा अधिकारी से 2.04,864 रुपये की ठगी कर ली गई। तहरीर के आधार पर पुलिस ने अज्ञात पर केस दर्ज किया है। मकान नम्बर- 12, प्रकाश इन्कलेव मानपुर रोड, काशीपुर निवासी सेवानिवृत्त जिला शिक्षा अधिकारी हीरा लाल पुत्र ठाकुर दास ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर अवगत कराया कि उन्होंने एसबीआई लाइफ इन्श्योरेंस रिटायर स्मार्ट पॉलिसी 23 जुलाई 2021 को एसबीआई काशीपुर से कराई थी जिसका प्रीमियम एक बारगी 5 लाख रूपये जमा किया था। 05 जुलाई 2023 को सचिन खरे नामक व्यक्ति का फोन उसके पास आया, जिसमें कहा गया कि एसबीआई इन्श्योरेन्स से बोल रहा हूं। आपका दो साल से प्रीमियन जमा नहीं है जिस वजह से पैनल्टी कट कर पॉलिसी की राशि 2.72,000 रुपये बची है। सचिन खरे नामक व्यक्ति ने बोला कि अगर प्रीमियम नहीं दिया तो आपके इन्श्योरेंस की बाकी रकम भी शून्य हो जायेगी। यदि आप पैसा बचाना चाहते हैं तो हमारे एचओडी डॉ. प्रभुदयाल पाठक से बात कर लो। उन्होंने बताया की आज यानी 05 जुलाई 2023 को आपकी पॉलिसी बन्द हो जायेगी। उन्होंने कहा कि अगर आप पैसा बचाना चाहते है तो 42.510 रुपये का गर्वमेन्ट बॉन्ड खरीदना पड़ेगा, जिसकी रकम बाद में वापस हो जायेगी। जिससे हम यह दिखायेंगे कि आपके पास गवर्मेन्ट बॉन्ड है तो पॉलिसी स्टाप करके आपका पैसा वापस कर दिया जायेगा। उसने बैंक एकाउंट में पैसे लिए। इसके बाद 11 जुलाई 2023 को प्रभुदयाल पाठक से बात हुई तो उन्होंने 1.02.354 रुपये प्रोसेसिंग तथा सिक्योरिटी के नाम पर बैंक एकाउंट में 23 जुलाई 2023 को 80,000 रुपये व 14 जुलाई 2023 को 22.354 रुपये जमा कराये। फिर डॉ. प्रभु दयाल पाठक ने बताया कि तुम्हारी फाइल एकाउन्ट सेक्शन में अग्रसारित कर दी है। साथ ही कहा कि आपको सुधीर चौधरी फोन करेंगे। फिर मेरी बात 12 जुलाई 2023 को सुधीर चौधरी से हुई। उन्होंने मुझसे पॉलिसी क्लियरेंस लेटर के लिए 1.52,354 रुपये मांगे और बोला कि उसके बाद ही आपकी पॉलिसी का पूर्ण भुगतान मिलेगा। तब मैंने 60,000 रुपये का भुगतान उनके द्वारा बताये गये बैंक एकाउंट में जमा किया। रकम वापस न आने पर उन्हें ठगी का अहसास हुआ। तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ 2.04,864 रुपये की ठगी के आरोप में अज्ञात के खिलाफ धारा 420 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया है।


Spread the love
Must Read
Related News
error: Content is protected !!